Top

भारत-चीन का होगा आमना-सामना, LAC मुद्दे को लेकर मोदी-जिनपिंग करेगें बड़ी बैठक

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग साल 2021 में भारत का दौरा कर सकते हैं। दरअसल इसी साल यानी 2021 में भारत को ब्रिक्स समिट का आयोजन करना है, यदि ये समिट वर्चुअल नहीं होती है तो फिर राष्ट्रपति शी जिनपिंग का भारत दौरा कर सकते हैं।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 23 Feb 2021 5:35 AM GMT

भारत-चीन का होगा आमना-सामना, LAC मुद्दे को लेकर मोदी-जिनपिंग करेगें बड़ी बैठक
X
भारत दौरे को लेकर चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने इस साल भारत द्वारा ब्रिक्स(BRICS) सम्मेलन के आयोजन का समर्थन किया है।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: पूर्वी लद्दाख पर पिछले एक साल से भारत और चीन के बीच तनाव की जो स्थिति बन रही थी, सीमा पर वो अब कम होना शुरू हो गई है। लेकिन इसका असर अब द्विपक्षीय संबंधों पर दिख सकता है। ऐसे में ये उम्मीदें जताई जा रही हैं कि चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग साल 2021 में भारत का दौरा कर सकते हैं। दरअसल इसी साल यानी 2021 में भारत को ब्रिक्स समिट का आयोजन करना है, यदि ये समिट वर्चुअल नहीं होती है तो फिर राष्ट्रपति शी जिनपिंग का भारत दौरा कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें...चीन नहीं सुधरेगा, भारत के खिलाफ नया वीडियो, चला रहा देश विरोधी प्रोपेगैंडा

ब्रिक्स देशों का रोल ग्लोबल मुद्दों में काफी अहम

भारत दौरे को लेकर चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने इस साल भारत द्वारा ब्रिक्स(BRICS) सम्मेलन के आयोजन का समर्थन किया है। पिछले दिन इसी कड़ी में उन्होंने बयान दिया कि हम भारत का समर्थन करते हैं और सभी के साथ मिलकर काम करने के लिए तत्पर हैं। जबकि चीनी विदेश मंत्रालय ने कहा कि ब्रिक्स देश कोरोना के खिलाफ लड़ाई में एक साथ मिलकर काम करेंगे।

ऐसे में चीनी विदेश मंत्रालय ने कहा कि ब्रिक्स देशों का रोल ग्लोबल मुद्दों में काफी अहम है, चीन सभी देशों के साथ मिलकर आगे बढ़ेगा। लेकिन चीनी विदेश मंत्रालय ने शी जिनपिंग के भारत दौरे को लेकर कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया है। और अभी तक की जितनी भी ब्रिक्स समिट हुई हैं, उनमें शी जिनपिंग ने खुद ही हिस्सा लिया है ऐसे में ये अनुमान लगाया जा रहा है।

brics फोटो-सोशल मीडिया

ये भी पढ़ें... कृषि कानूनों पर जंग और तीखी, किसान नेताओं ने दी सरकार को बड़ी चेतावनी

साल 2021 के ब्रिक्स समिट

बता दें कि साल 2021 के ब्रिक्स समिट के लिए भारतीय विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने इसी 19 फरवरी को आधिकारिक वेबसाइट भी लॉन्च कर दी है। इससे पहले चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने अक्टूबर 2019 में भारत का दौरा किया था, जहां भारत-चीन के बीच द्विपक्षीय वार्ता हुई थी। दो साल पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शी जिनपिंग का स्वागत तमिलनाडु में किया था।

पूर्वी लद्दाख पर जारी तनाव के बीच भारत-चीन में कोई आधिकारिक द्विपक्षीय वार्ता नहीं हुई है, लेकिन इस दौरान कुछ अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शी जिनपिंग ने कई बार मंच शेयर जरूर किया है।

ये भी पढ़ें...होगी मूसलाधार बारिश: इन राज्यों में 5 दिन जमकर बरसेंगे बादल, IMD का अलर्ट

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Desk Editor

Next Story