लॉकडाउन: CM शिवराज सिंह का बड़ा फैसला, MP में अब नहीं बिकेगी शराब

देशभर में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है जिसकी वजह से लाॅकाडाउन कर दिया गया है। इस दौरान राज्य सरकारें कई कड़े कदम उठा रही हैं।

 

भोपाल: देशभर में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है जिसकी वजह से लाॅकाडाउन कर दिया गया है। इस दौरान राज्य सरकारें कई कड़े कदम उठा रही हैं। अब मध्य प्रदेश में शनिवार से लॉकडाउन के दौरान शराब की दुकानें नहीं खुलेंगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसे लेकर एक आदेश जारी किया।

आदेश के मुताबिक 21 दिनों के लॉकडाउन के दौरान शनिवार से मध्य प्रदेश में शराब की दुकानें नहीं खुलेंगी। इससे पहले शुक्रवार सुबह 10 बजे से 5 बजे तक ये दुकानें खुल रही थीं। प्रधानमंत्री मोदी ने 24 मार्च को राष्ट्र को संबोधित करते हुए 21 दिन के लॉकडाउन का एलान किया था।

यह भी पढ़ें…कोरोना के कहर के साथ भूकंप के झटकों से हिला यह प्रदेश, रातभर सो नहीं पाए लोग..

पीएम मोदी ने साफ-साफ कहा था कि इस दौरान सिर्फ आवश्यक वस्तुओं और सेवाओं से संबंधित लोग ही घरों से बाहर निकल सकेंगे। इन आवश्यक वस्तुओं में राशन, दूध, दवा, सब्जी आदि शामिल की गई हैं और शराब के ठेके इसमें शामिल नहीं हैं। इसके बावजूद प्रदेश में शराब की दुकानें अब तक खुल रही थीं।

यह भी पढ़ें…कोरोना वायरस ने इटली में मचाई भीषण तबाही, 1 दिन में इतने हजार लोगों की मौत

तो वहीं केरल में एक शख्स ने इस वजह से जान दे दी, क्योंकि उसे शराब नहीं मिली। 35 वर्षीय इस शख्स ने कथित तौर पर शराब नहीं मिलने से हताश होकर आत्महत्या कर ली। थ्रिसुर का रहने वाला सनोज शराब नहीं मिलने से परेशान था। आम दिनों में वो दो से तीन बार (शराब की दुकान) जाता था, लेकिन कोरोना वायरस की वजह से देश में लॉकडाउन चल रहा है. ऐसे में केरल सरकार ने बुधवार से शराब की बिक्री पर रोक लगा दी है।

यह भी पढ़ें…कोरोना पॉजिटिव हैं ब्रिटिश PM, मोदी ने की जल्द ठीक होने की प्रार्थना, बताया फाइटर

इससे पहले केरल सरकार ने शराब को आवश्यक वस्तु की श्रेणी में रखते हुए इसकी बिक्री जारी रखने को कहा था लेकिन विपक्ष के दबाव में उन्हें यह फैसला वापस लेना पड़ा।