सीएम बोले- 15-20 बहुत महत्वपूर्ण, यही प्रतिरोध की अंतिम परीक्षा हैं

महामारी कोरोना की आफत से दुनिया का कोई देश नहीं बच पाया है। भारत में लॉकडाउन के बावजूद भी कोरोना वायरस के केस बढ़ते जा रहे है। ताजा आकड़ों के मुताबिक, देश में कोरोना पीड़ितों की संख्या 800 के पार पहुंच गई है।

सीएम बोले- 15-20 बहुत महत्वपूर्ण, यही प्रतिरोध की अंतिम परीक्षा हैं

नई दिल्ली : महामारी कोरोना की आफत से दुनिया का कोई देश नहीं बच पाया है। भारत में लॉकडाउन के बावजूद भी कोरोना वायरस के केस बढ़ते जा रहे है। ताजा आकड़ों के मुताबिक, देश में कोरोना पीड़ितों की संख्या 800 के पार पहुंच गई है। इससे निपटने के लिए पीएम मोदी ने 14 अप्रैल तक लॉकडाउन का ऐलान किया है। इसके साथ ही हर राज्य की सरकारें भी कोरोना वायरस से जंग जीतने के लिए हर संभव प्रयास कर रही हैं।

ये भी पढ़े…कोरोना संकट से आर्थिक मंदी की चपेट में पूरी दुनिया, उबरने में लगेगा काफी वक्त

परीक्षा पास करनी है…

बता दें कि महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को ट्वीट करके कहा, ‘अगले 15 से 20 दिन हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। यह हमारे प्रतिरोध की अंतिम परीक्षा है और हमें इसके लिए पूरी तरह से तैयार रहना होगा। एक बार जब हम परीक्षा को पास कर लेते हैं तो कोई भी हमें रोक नहीं सकता है।’

पिछले कुछ दिनों में महाराष्ट्र और केरल में सबसे ज्यादा कोरोना के केस सामने आए हैं। मुंबई में कुल 19 जगहों पर कोरोना टेस्ट किए जा रहे हैं। जिसमें से 8 सरकारी अस्पतालों और 11 निजी अस्पताल हैं जहां यह टेस्ट किया जा रहा है। साथ ही प्राईवेट लैब में टेस्ट के लिए आपको 4500 रुपये खर्च करने होंगे, जबकि सरकारी अस्पतालों में यह टेस्ट फ्री में किया जा रहा है।

ये भी पढ़े…पश्चिम बंगाल: डॉक्टर कोरोना से संक्रमित, फर्जी पोस्ट डालने के मामले में महिला गिरफ्तार

हर संभव प्रयास

सीएम उद्धव ठाकरे ने राज्य की परिस्थितियों का जायजा लेने के बाद सभी उपयोगी वस्तुओं, किराना और दवाओं की दुकानों को 24 घंटे खोलने की इजाजत दी है ताकि बाजार में भीड़ न हो। कोरोना का संक्रमण न फैले इसके लिए ग्राहक और दुकानदार के बीच उचित दूरी बनाए रखने को भी कहा गया है। सरकारें हर संभव प्रयास कर रही हैं जिससे संक्रमण न फैले।