MP पुलिस की शर्मनाक हरकत: CM शिवराज का कड़ा एक्शन, इतने पुलिसकर्मी सस्पेंड

मध्य प्रदेश के गुना में पुलिस की शर्मनाक और अमानवीय हरकत सामने आने के बाद सीएम शिवराज ने मामले में कड़ी कार्रवाई करते हुए 6 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया।

Published by Shivani Awasthi Published: July 16, 2020 | 7:24 pm

भोपाल: मध्य प्रदेश के गुना में प्रदेश पुलिस की शर्मनाक और अमानवीय हरकत सामने आने के बाद शिवराज सरकार ने मामले में कड़ी कार्रवाई की है। अतिक्रमण हटाने गयी पुलिस के बर्ताव से आहत किसान दम्पति ने एसडीएम और पुलिस के आमने ही जहर पी लिया था। मामला गंभीर होने पर राज्य सरकार ने 6 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया। बता दें कि सीएम शिवराज ने इसके पहले इसी मांमले में एक्शन लेते हुए कलेक्टर और एसपी को तत्काल प्रभाव से हटाने के निर्देश दिए थे।

एमपी पुलिस की बर्बरता- किसान दम्पती की जमकर की पिटाई

दरअसल, मध्य प्रदेश के गुना में मंगलवार को मंगलवार को कैंट इलाके में सरकारी पीजी कॉलेज की जमीन पर कब्जा हटाने के दौरान विवाद हो गया था। सरकारी जमीन से अतिक्रमण हटाने गई पुलिस और एसडीएम नगरपालिका दस्त के साथ पहुंचे और अमानवीयता की सारी हदें पार कर दीं।

किसान परिवार को सार्वजनिक तौर पर इतना प्रताड़ित किया कि उसने अधिकारियों के सामने ही जहर पी लिया। दंपत्ति के मासूम बच्चे जब माँ बाप को बेसुध देख सहम गए और चीखने चिल्लाने लगे तब जाकर अधिकारियों को होश आया। इसके बाद आनन-फानन में पुलिस ने दंपती को अस्पताल पहुंचाया।

ये भी पढ़ेंः गोली मारने का आदेश: लॉकडाउन में बाहर निकलने की सजा मौत, इस देश की करतूत

सीएम शिवराज ने कलेक्टर और एसपी को तत्काल हटाया

मामले का वीडियो वायरल हुआ तो सीएम मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने तत्काल मामले को गंभीरता से लेते हुए कार्रवाई की। उन्होंने गुना के कलेक्टर और एसपी को तत्काल प्रभाव से हटाने के निर्देश दिए। जिसके बाद अधिकारियों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई हुई है।

लाठीचार्ज में शामिल 6 पुलिसकर्मी सस्पेंड

वहीं अब सीएम शिवराज ने पुलिस लाठीचार्ज और किसान दम्पत्ति के साथ अमानवीय व्यवहार करने वाले 6 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है।

बता दें कि भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने इस मामले में ट्वीट कर गुना की घटना को बेहद दुर्भाग्यपूर्ण बताया। उन्होंने जानकारी दी कि इस संबंध में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से चर्चा की गयी हैं, और ऐसे असंवेदनशील व दोषी अधिकारियों पर कड़ी कार्यवाही का अनुरोध किया गया है।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App