×

नौकरी पर ऐसा ऑफर: एक हजार रुपये और भरपेट बिरयानी शाहीन बाग़ में

नौकरी की क्या जरूरत है? दिल्ली जाओ और वहां शाहीन बाग में चल रहे धरने में शामिल हो जाओ। हर दिन आपको मुफ्त में एक हज़ार रुपये मिलेंगे।

Shivani Awasthi

Shivani AwasthiBy Shivani Awasthi

Published on 27 Jan 2020 10:28 AM GMT

नौकरी पर ऐसा ऑफर: एक हजार रुपये और भरपेट बिरयानी शाहीन बाग़ में
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

दिल्ली: नागरिकता संशोधन कानून को लेकर हो रहा विरोध भारत तक सीमित नहीं रहा है। इसका असर अन्य देशों में भी दिख रहा है। ख़ास कर इन दिनों चर्चा में बना दिल्ली का 'शाहीन बाग़' (Shaheen bagh)। दरअसल, दुबई में एक भारतीय की जॉब एप्लीकेशन पर कंपनी ने ऐसा जवाब दिया जिसे सुन आप भी हैरान हो जायेगे। कंपनी उसे सलाह दी कि वह नौकरी छोड़ कर शाहीन बाग़ में जाकर प्रदर्शन करें।

नौकरी एप्लीकेशन के जवाब में कंपनी ने दी अजीब सलाह:

मामला दुबई की एक कंपनी का है, जहां केरल निवासी अब्दुल्ला एसएस ने मैकेनिकल इंजीनियर की पोस्ट के लिए एप्लीकेशन दिया था। इसपर कंपनी के एक कंसल्टेंसी फर्म के सीनियर अधिकारी जयंत गोखले ने अब्दुल्ला को ईमेल करते हुए लिखा, 'मैं सोच रहा था कि आपको नौकरी की क्या जरूरत है? दिल्ली जाओ और वहां शाहीन बाग में चल रहे धरने में शामिल हो जाओ। हर दिन आपको मुफ्त में एक हज़ार रुपये मिलेंगे। इसके अलावा मुफ्त में बिरयानी। चाय, खाना और मिठाइयां भी मिलेंगी।'

वायरल हुआ मेल:

कंपनी के सीनियर अधिकारी का ये मेल अब सोशल मीडिया पर वायलर हो रहा है। इस बारे में नौकरी के लिए एप्लीकेशन देने वाले अब्दुल्ला का कहना कि वह इस मेल को देखकर हैरान हैं। उन्हें समझ नहीं आ रहा है कि आखिर कोई कैसे इस तरह की बातें लिख सकता है।

ये भी पढ़ें:PFI पर बड़ा खुलासा: प्रदर्शन के लिए 134 करोड़, कपिल सिब्बल हुए बेनकाब

कंपनी के अधिकारी पर एक्शन की मांग:

अब्दुल्ला ने कहा कि उसने इस मेल को कुछ दोस्तों के साथ शेयर किया था, जो बाद में वायरल हो गया। उन्होंने कहा कि वह इस पर किसी तरह का विवाद नहीं चाहते हैं। उन्हें बस नौकरी की जरूरत है। वहीं सोशल मीडिया पर लोग गोखले के खिलाफ एक्शन लेने की मांग कर रहे हैं कि वो धर्म के आधार पर नौकरी में भेदभाव कर रहे हैं।

अधिकारी ने अबदुल्ला से मांगी माफी:

हालांकि मामला बढ़ने के बाद गोखले ने सफाई दी कि लोग उनके मेल को जबरदस्ती का मुद्दा बना रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस मेल के जरिये उनका मकसद किसी को ठेस पहुंचाना नहीं था। वहीं उन्होंने कहा, 'मैंने अबदुल्ला से पहले ही माफी मांग ली है।'

गौरतलब है कि पिछले दिनों बीजेपी के प्रवक्ता अमित मालवीय ने ट्वीट करते हुए दावा किया था कि शाहीन बाग में CAA के खिलाफ प्रदर्शन में लोगों को हर रोज़ 500 रुपये मिलते हैं। हालांकि उनके दावे को प्रदर्शन करने वालों ने सीरे से खारिज कर दिया था।

ये भी पढ़ें:दिल्ली विधानसभा चुनाव: अमित शाह ने की शाहीन बाग को करंट देने की अपील

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story