‘दलित एवं आदिवासी विरोधी’ मोदी सरकार को उखाड़ फेकेगी जनता: कांग्रेस

कांग्रेस ने बुधवार को केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर ‘दलित एवं आदिवासी विरोधी’ होने का आरोप लगाया और दावा किया कि देश की जनता इस ‘दमनकारी सरकार’ को सत्ता से बाहर का रास्ता दिखाने का मन बना चुकी है।

नई दिल्ली: कांग्रेस ने बुधवार को केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर ‘दलित एवं आदिवासी विरोधी’ होने का आरोप लगाया और दावा किया कि देश की जनता इस ‘दमनकारी सरकार’ को सत्ता से बाहर का रास्ता दिखाने का मन बना चुकी है।

भाजपा सांसद उदित राज के कांग्रेस में शामिल होने के बाद पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने एक बयान में कहा, ‘‘भाजपा-आरएसएस की असली सोच है कि कमजोर वर्गों-दलितों एवं आदिवासियों के ‘उत्पीड़न’ की नीति का अनुसरण किया जाए। पिछले पांच वर्षों की मोदी सरकार में देश दलित विरोधी और आदिवासी विरोधी पक्षपात का गवाह बना है जो पहले कभी नहीं हुआ था।’’

यह भी पढ़ें…चीफ जस्टिस को फंसाने की साजिश पर SC ने कहा, वकील के दावों की जड़ तक जाएंगे

उन्होंने दावा किया, ‘‘यह सरकार दलित एवं आदिवासी विरोधी है। अब लोग प्रधानमंत्री मोदी और उनकी दमनकारी सरकार को बाहर का रास्ता दिखाने के लिए तैयार हैं।’’

यह भी पढ़ें…हार्दिक पटेल का दावा- बनारस से नरेंद्र मोदी हारेगें चुनाव

सुरजेवाला ने यह भी आरोप लगाया, ‘‘एससी-एसटी कानून को कमजोर करना भाजपा के भीतर निहित पूर्वाग्रह का परिणाम था। जबसे कांग्रेस ने भाजपा की इस करतूत का संज्ञान लिया और इसका विरोध किया। उस समय की राजस्थान, मध्य प्रदेश एवं छत्तीसगढ़ की भाजपा सरकारों ने शर्मनाक ढंग से इस कानून के कमजोर स्वरूप को लागू करने का प्रयास किया। बाद में जनता ने इन तीनों राज्यों से भाजपा को उखाड़ फेंका और फिर कांग्रेस ने सत्ता में आने के बाद एसी-एसटी कानून को मजबूत बनाया।’’

यह भी पढ़ें…NIA कोर्ट से प्रज्ञा ठाकुर को मिली राहत, चुनाव लड़ने पर रोक लगाने से किया इंकार

पिछले पांच वर्षों के दौरान दलितों के खिलाफ उत्पीड़न की कुछ घटनाओं का उल्लेख करते हुए कांग्रेस नेता ने कहा कि उदित राज, सावित्री बाई फुले, अशोक कुमार दोहरे और छोटे लाल जैसे भाजपा सांसदों ने दलितों एवं आदिवासियों के साथ भाजपा सरकार के गलत व्यवहार का खुलकर विरोध किया। अब इनमें से कुछ लोग कांग्रेस में हैं।

भाषा