×

कांग्रेस को फिर लगा तगड़ा झटका, वरिष्ठ नेता पीसी चाको ने दिया इस्तीफा

आंतरिक कलह से जूझ रही कांग्रेस को चुनाव से पहले आज एक बार फिर तगड़ा झटका लगा है। पार्टी के वरिष्ठ नेता पीसी चाको ने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को अपना इसतीफा भेज दिया है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 10 March 2021 9:27 AM GMT

कांग्रेस को फिर लगा तगड़ा झटका, वरिष्ठ नेता पीसी चाको ने दिया इस्तीफा
X
फोटो— सोशल मीडिया
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली। आंतरिक कलह से जूझ रही कांग्रेस को चुनाव से पहले आज एक बार फिर तगड़ा झटका लगा है। पार्टी के वरिष्ठ नेता पीसी चाको ने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को अपना इसतीफा भेज दिया है। खबरों की मानें तो अपने इस्तीफे में पीसी चाकों ने केरल कांग्रेस पर बड़ा अरोप लगाया है। उन्होंने लिखा है केरल में पार्टी के लिए उनका काम करना मुश्किल हो गया है। बातते चलें कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पीसी चाको का इस्तीफा ऐसे समय आया है, जब देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों का दौर चल रहा है।

गुटबाजी से जूझ रही है कांग्रेस

गौरतलब है कि राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों में कांग्रेस की बदत्तर होती स्थिति के लिए शीर्ष नेतृत्व जिम्मेदार है। लेकिन यह सबकुछ जानते हुए पार्टी में शीर्ष नेतृत्व के खिलाफ बोलने की हिम्मत किसी में नहीं है। शीर्ष नेतृत्व के खिलाफ आवाज उठाने वालों का पार्टी में हाशिए पर कर दिया जाता है शायद यही वजह है कि कांग्रेस में गुटबाजी का दौर चल पड़ा है। कोई भी ऐसा राज्य नहीं है जहां कांग्रेस गुटबाजी से न जूझ रही हो। पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव का आगाज हो चुका है। लेकिन कांग्रेस पार्टी के पक्ष में प्रचार करने की जगह किसान महापंचायत करने में मस्त है।

इसे भी पढ़ें: महाशिवरात्रि पर आतंकी हमला: मंदिरों-शिवालयों में भीड़ है निशाना, हाई-अलर्ट जारी

बता दें कि हाल में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद की भी भाजपा से नजदीकियां बढ़ी हैं। हालांकि कांग्रेस ने गुलाम नबी आजाद सहित 23 अन्य वरिष्ठ पार्टी नेताओं को अलग टीम में रख दिया है। पार्टी में नेताओं के आने—जाने का सिलसिला लगा रहता है। हैरत की बात यह है कि कांग्रेस में आने की जगह लगतार जाने का सिलसिला जारी है। फिलहाल पीसी चाको का इस्तीफा अभी सवीकार नहीं किया गया है। लेकिन अगर पीसी चाको पार्टी से अलग होते हैं तो यह केरल में कांग्रेस के लिए बड़ा झटका माना जाएगा।

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तान में महाशिवरात्री: गूंजेगा हर-हर महादेव, कटासराज में भक्त करेंगे पूजा-अर्चना

Newstrack

Newstrack

Next Story