अंडरवर्ल्ड को लेकर महाराष्ट्र में राजनीति गर्म, जानिए किसने क्या कहा-

महाराष्ट्र सरकार के मंत्री व कांग्रेस नेता बालासाहेब थोराट ने संजय राउत के उस बयान को गलत बताया है, जिसमें कहा कि इंदिरा गांधी के डॉन करीम लाला से मिलने  की बात कही थी।   लेकिन अच्छी बात ये है कि उन्होंने अपने बयान वापस ले लिया है। उन्हें भविष्य में सावधान रहना चाहिए। हमने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को इसकी जानकारी दे दी है।

Published by suman Published: January 16, 2020 | 8:36 pm

मुंबई :  महाराष्ट्र सरकार के मंत्री व कांग्रेस नेता बालासाहेब थोराट ने संजय राउत के उस बयान को गलत बताया है, जिसमें कहा कि इंदिरा गांधी के डॉन करीम लाला से मिलने  की बात कही थी।   लेकिन अच्छी बात ये है कि उन्होंने अपने बयान वापस ले लिया है। उन्हें भविष्य में सावधान रहना चाहिए। हमने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को इसकी जानकारी दे दी है।

 

 

यह पढ़ें…बीबीएयू व नाइपर के बीच प्रोग्राम और संसाधनों के साझा इस्तेमाल पर करार

 

 

 

 

 

शिवसेना नेता संजय राउत के एक बयान ने महाराष्ट्र और देश की राजनीति में हलचल मचा दी है।  संजय राउत ने कहा था कि पूर्व प्रधानमंत्री  इंदिरा गांधी डॉन करीम लाला  से मिलने मुंबई आती थीं।  दरअसल, शिवसेना सांसद संजय राउत ने बुधवार को दिए गए एक इंटरव्यू में कहा कि अंडरवर्ल्ड के लोग ही पहले तय करते थे कि मुंबई का कमिश्नर कौन होगा या फिर मंत्रालय में कौन बैठेगा। संजय राउत ने यह भी दावा किया कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी अंडरवर्ल्ड डॉन करीम लाला से मिलने के लिए मुंबई आती थीं। संजय राउत की इसी बात पर विवाद शुरू हुआ तो उन्होंने अपने बयान पर सफाई भी दी।इसी पर जारी राजनीति के बीच महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष और कैबिनेट मंत्री बाला साहब थोराट ने दावा किया है कि मुख्यमंत्री रहते हुए देवेंद्र फड़णवीस ने ‘वर्षा’ में एक कुख्यात अंडरवर्ल्ड डॉन से मुलाकात की थी। 

 

 

 

 

 

यह पढ़ें…यूपी पर है तगड़ा कर्ज: इन राज्यों का हाल जानेंगे तो उड़ जाएंगे होश

 

 

बता दें कि संजय राउत के इस दावे पर कांग्रेस के नेताओं ने ऐतराज जताया था।अब महाराष्ट्र सरकार में कैबिनेट मंत्री बाला साहब थोराट ने बीजेपी और पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस पर आरोप लगाए हैं। कांग्रेस पर देवेंद्र फडणवीस के हमले के बाद बाला साहब थोराट ने कहा, ‘जब देवेंद्र फडणवीस सीएम थे, तब एक कुख्यात अंडरवर्ल्ड डॉन ने उनसे वर्षा में मुलाकात की। उन्होंने मुन्ना यादव को ना सिर्फ संरक्षण दिया बल्कि उसे एक सरकारी बोर्ड में भी नियुक्त किया। देवेंद्र फडणवीस को इस मुद्दे पर बोलने का नैतिक अधिकार नहीं है।’संजय राउत द्वारा बयान वापस लेने की बात का जिक्र करते हुए थोराट ने कहा, ‘भारत रत्न इंदिरा गांधी जी के बारे में संजय राउत ने बयान वापस ले लिया है।इस विवाद को यहीं खत्म हो जाना चाहिए लेकिन भविष्य में भी संजय राउत को हमारे नेताओं के बारे में इस तरह के गैरजिम्मेदाराना और बेवजह के बयान देने से बचना चाहिए।