Top

कोरोना संक्रमण की रफ्तार में तेजी, तीसरा सबसे संक्रमित देश बनने के करीब भारत

देश में कोरोना के संक्रमण की रफ्तार में लगातार भारी तेजी दर्ज की जा रही है। शनिवार को रिकॉर्ड 24000 से ज्यादा नए मामले दर्ज किए गए।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 5 July 2020 5:50 AM GMT

कोरोना संक्रमण की रफ्तार में तेजी, तीसरा सबसे संक्रमित देश बनने के करीब भारत
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: देश में कोरोना के संक्रमण की रफ्तार में लगातार भारी तेजी दर्ज की जा रही है। शनिवार को रिकॉर्ड 24000 से ज्यादा नए मामले दर्ज किए गए। इसके साथ ही देश में कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या 6,73, 904 हो गई है। दुनिया में संक्रमण के मामले में तीसरे नंबर पर चल रहे रूस में कोरोना के मरीजों की कुल संख्या 6,74,515 है। इस तरह भारत और रूस के काफी करीब पहुंच गया है और जल्द ही उसे पीछे छोड़कर दुनिया का तीसरा सबसे संक्रमित देश बन जाएगा।

ये भी पढ़ें:OnePlus 6000 रूपए सस्ता: फोन में तीन कैमरे और जबरदस्त फीचर्स

रूस से काफी तेज है संक्रमण की रफ्तार

मई के अंतिम हफ्ते और जून की शुरुआत के समय दोनों देशों में संक्रमण की रफ्तार में ज्यादा फर्क नहीं था। एक जून को रूस ने भारत से दो गुना से भी ज्यादा मामले थे। उस समय भारत में रोजाना 7 से 8000 और रूस में आठ से 9000 कोरोना केस सामने आ रहे थे। लेकिन पिछले एक महीने के दौरान भारत में संक्रमण की रफ्तार में करीब 3 गुना उछाल आया है जबकि इस दौरान रूस में संक्रमण की रफ्तार में गिरावट दर्ज की गई है। मौजूदा समय में रूस में रोजाना 6 से 7000 मामले दर्ज किए जा रहे हैं। जून और जुलाई के दौरान संक्रमण की तेज रफ्तार के कारण भारत रूस को पीछे छोड़ने के काफी करीब पहुंच गया है।

अमेरिका-ब्राजील में संक्रमण सबसे तेज

संक्रमण के मामले में सबसे बुरी स्थिति अमेरिका और ब्राजील की है जहां रोजाना करीब 50-50 हजार केस दर्ज किए जा रहे हैं। ये दोनों देश अभी भी दुनिया में पहले और दूसरे नंबर पर बने हुए हैं। ब्राजील में इस समय साढ़े पंद्रह लाख से अधिक कोरोना के केस दर्ज किए जा चुके हैं। अमेरिका का हाल तो काफी खराब है और वहां करीब साढे़ 29 लाख लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं।

मौतों के मामले में भारत आठवें नंबर पर

कोरोना से संक्रमित टॉप 10 देशों की सूची में भारत 30 मई को शामिल हुआ था। संक्रमण में लगातार दर्ज की जा रही तेजी के कारण महज 18 दिन बाद 12 जून को भारत दुनिया में चौथे नंबर पर पहुंच गया था। हालांकि मौतों के मामले में अभी भी भारत आठवें नंबर पर बना हुआ है। इससे पता चलता है कि भारत में रिकवरी वेट दूसरे देशों की अपेक्षा बेहतर है और यहां कोरोना से होने वाली मौतों की संख्या अन्य देशों की अपेक्षा कम है। देश में कोरोना से स्वस्थ होने वाले मरीजों की दर 60 फ़ीसदी से ज़्यादा है। अभी तक करीब 395000 मरीज कोरोना के संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं। दिल्ली और राजस्थान में तो रिकवरी रेट क़रीब 70 फ़ीसदी है।

ये भी पढ़ें:बहन रिद्धिमा की डिनर पार्टी में शामिल हुए ये सेलेब्स, नहीं पहुंचे भाई रणबीर

देश में कोरोना टेस्टिंग में आई तेजी

हाल के दिनों में कोरोना की टेस्टिंग में भी तेजी लाई गई है। तीन जुलाई तक करीब साढ़े 95 लाख नमूनों की जांच की जा चुकी थी। देश में रोजाना जांच की क्षमता 2,42,000 से ऊपर पहुंच गई है। रिकवरी रेट के मामले में भी भारत की स्थिति दुनिया के अन्य देशों की अपेक्षा अच्छी है। भारत में रिकवरी रेट 60.80 फ़ीसदी है जबकि वैश्विक दर 56.73 फ़ीसदी है। रिकवरी रेट के मामले में रूस की स्थिति सबसे बेहतर है और वहां करीब 66.15 फ़ीसदी रिकवरी रेट है।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story