कोरोना संकट: सोनिया गांधी ने कांग्रेस नेताओं से की बात, जानिए क्यों जताया कार्यकर्ताओं का आभार

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शुक्रवार को सभी प्रदेश कांग्रेस अध्यक्षों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोरोना वायरस को लेकर चर्चा की। इस दौरान उन्होंने लॉकडाउन के कारण परेशानियां झेल रहे गरीब वर्ग के लोगों के प्रति चिंता व्यक्त करते हुए केंद्र से इस चुनौती से निपटने के लिए किसी योजना के बनाए जाने की उम्मीद जताई।

Published by suman Published: April 10, 2020 | 8:02 pm

नई दिल्ली:  कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शुक्रवार को सभी प्रदेश कांग्रेस अध्यक्षों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोरोना वायरस को लेकर चर्चा की। इस दौरान उन्होंने लॉकडाउन के कारण परेशानियां झेल रहे गरीब वर्ग के लोगों के प्रति चिंता व्यक्त करते हुए केंद्र से इस चुनौती से निपटने के लिए किसी योजना के बनाए जाने की उम्मीद जताई।

बैठक में यह भी कहा कि देश की अर्थव्यवस्था पर कोरोना वायरस संकट का बड़ा असर होगा और इसके लिए हमें अपने आपको तैयार करना चाहिए। पार्टी की ओर से जारी बयान के मुताबिक सोनिया ने कहा, “देश कोरोना वायरस महामारी को रोकने के लिए लड़ रहा है। इस लडा़ई में हम पूरी तरह से अपनी भूमिका निभाने के लिए तैयार हैं। आप सब जानते ही हैं कि हर प्रदेश में कांग्रेस के पदाधिकारी और कार्यकर्ता कई हफ़्तों से देशवासियों की सेवा में लगे हुए हैं।” 

 

यह पढ़ें…लॉकडाउन के दौरान बढ़ी घरेलू हिंसा, महिलाओं के लिए व्हाट्सएप नंबर जारी

 

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान सोनिया गांधी ने कांग्रेसियों का आभार भी जताया । उन्होंने कहा, “लॉकडाउन के चलते जो गरीब मजदूर अपने-अपने गांव की ओर रवाना हुए, और उनकी परेशानियों को दूर करने का काम हमारे कार्यकर्ताओं ने एकजुट होकर किया है।आज भी, देश भर में, हर जिले के कांग्रेस के सिपाही इस काम में लगे हुए हैं। आप सब के समर्पण के लिए मैं अत्यंत आभारी हूं।

सोनिया ने अपनी बात जारी रखते हुए आगे कहा, “आप जानते ही होंगे कि मैंने और पूर्व अध्यक्ष राहुल जी ने प्रधानमंत्री जी को चिट्ठियां लिख कर कुछ सुझाव भी दिए. हमारी आशा है की सरकार इस चुनौती का सामना करने के लिए योजना बनाए. सबसे ज्यादा पीड़ा और परेशानी गरीबों, किसानों और मजदूरों को हो रही है।”

इस बातचीत के वक्त सोनिया ने देश की अर्थव्यवस्था पर भी बात की. उन्होंने कहा, “लॉकडाउन की वजह से हमारी अर्थव्यवस्था पर बहुत ही ज्यादा भार पड़ने वाला है। पहले से ही अर्थव्यवस्था संकट में थी- लगता है कि अब और मुश्किलें बढ़ेंगी। इन परिस्थितियों के लिए हमें तैयार होना पड़ेगा। जनता के दुख में, जनता का साथ देना होगा और उनकी परेशानियों को दूर करने का पूरा प्रयास करना होगा।

 

यह पढ़ें…कोरोना से जंग में भारत की बड़ी जीत, दुनिया के अन्य देशों से रफ्तार काफी धीमी

 

सोनिया ने इस दौरान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्षों से उनके राज्यों के हालात भी जाने। उन्होंने कहा, “मैं आपसे जानना चाहती हूं कि आपके प्रदेशों में कोरोना महामारी को फैलने से रोकने का काम कैसे चल रहा है? क्या आप सरकार के प्रयासों से संतुष्ट हैं? कांग्रेस पार्टी इस समय किस तरह से अपने संगठन द्वारा लड़ाई में और ज्यादा योगदान दे सकती है? और अब तक आप सब ने अपने-अपने प्रदेशों में क्या काम किया है?”

उन्होंने कहा कि सबसे ज़्यादा पीड़ा और परेशानी ग़रीबों, किसानों और मज़दूरों को हो रही है। सोनिया के मुताबिक, ‘‘लॉकडाउन की वजह से देश की अर्थव्यवस्था पर बहुत ही ज़्यादा भार पड़ने वाला है। पहले से ही अर्थव्यवस्था संकट में थी, अब और मुश्किलें बढ़ेंगी। इन परिस्थितियों के लिए हमें तैयार होना पडे़गा। जनता के दुख में जनता का साथ देना होगा और उनकी परेशानियों को दूर करने का पूरा प्रयास करना होगा।’’ देश में बीते 24 घंटों के दौरान देश में कोविड-19 के 678 और मामले सामने आए हैं जबकि इस बीमारी से 33 और लोगों की जान गई है।