कोरोना संकट: मुंबई के इन 6 प्राइवेट अस्पतालों को किया गया सील

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस का प्रकोप मुबंई के अस्पतालों पर भी पड़ता नजर आ रहा है। इस जानलेवा वायरस के संक्रमण की वजह से मुंबई के करीब छह निजी अस्पतालों को सील कर दिया गया है।

मुंबई: महाराष्ट्र में कोरोना वायरस का प्रकोप मुबंई के अस्पतालों पर भी पड़ता नजर आ रहा है। इस जानलेवा वायरस के संक्रमण की वजह से मुंबई के करीब छह निजी अस्पतालों को सील कर दिया गया है। इसमें पांच बड़े अस्पताल भी शामिल है। इन सभी अस्पतालों के डॉक्टर और नर्स एवं पैरा मेडिकल कर्मचारी कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक कोरोनो वायरस के कारण मुंबई के वॉकहार्ट अस्पताल और जसलोक अस्पताल के बाद अब भाटिया अस्पताल, ब्रीच कैंडी अस्पताल, हिंदुजा अस्पताल और स्पंदन अस्पताल को बंद कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें…कोरोनाः अपना फर्ज निभाएं, इसमें कोताही न करें, इतना भय, समझ से परे है

मीडिया रिपोर्ट में एक अधिकारी के हवाले से कहा गया है कि अस्पताल को सील कर दिया गया है ताकि वहां से संक्रमण का प्रसार न हो, सभी संक्रमित लोगों और जिनपर संक्रमित होने का संदेह है, सभी को आइसोलेशन में रखा गया है। देश में कोरोना पीड़ितों की संख्या बढ़कर 5734 हुई, इससे अब तक 166 मौतें हो गई हैं।

यह भी पढ़ें…मर्दों के लिए जानलेवा कोरोना: इस आदत की वजह से चपेट में आ रहे ये सभी

मुंबई के पेडर रोड स्थित जसलोक अस्पताल में एक कर्मचारी के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने पर बुधवार से नई भर्ती रोक लगा दी गई। इसके अलावा ओपीडी को भी बंद कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें…लॉकडाउन में शादी करना पड़ा महंगा, पुलिस ने दूल्हा-दुल्हन समेत 50 को किया गिरफ्तार

वहीं, मुंबई सेंट्रल स्थित वोकहार्ट अस्पताल के तीन डॉक्टर और 26 नर्स एवं पैरा मेडिकल कर्मचारी के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि होने के बाद उसे सील कर दिया गया। अस्पताल के इतने कर्मचारी वायरस से कैसे संक्रमित हुए, इसकी जांच चल रही है।