सावर्जनिक स्थलों पर थूकने पर 16 लाख का जुर्माना, इस वजह से लिया एक्शन

कोरोना वायरस को लेकर दहशत का माहौल है, लेकिन केंद्र और राज्य सरकारें भी कोरोना वायरस से बचाव के लिए सतर्क हैं। कोरोना वायरस को लेकर सफाई पर भी खासा ध्यान दिया जा रहा है।

नई दिल्ली: कोरोना वायरस को लेकर दहशत का माहौल है, लेकिन केंद्र और राज्य सरकारें भी कोरोना वायरस से बचाव के लिए सतर्क हैं। कोरोना वायरस को लेकर सफाई पर भी खासा ध्यान दिया जा रहा है। अकेले गुजरात में तीन दिनों के भीतर सार्वजनिक स्थलों पर थूकने पर 3300 लोगों पर जुर्माना लगाया गया और 16 लाख रुपए की वसूली की गई है।

महाराष्ट्र में 1 दिन में 1 लाख रुपए की वसूली

उधर महाराष्ट्र में भी बीएमसी द्वारा सफाई पर सख्ती की जा रही है। बीएमसी ने सार्वजनिक जगहों पर थूकने वालों से 1,000 रुपए जर्माना वसूलना शुरू कर दिया है। बीएमसी ने बीते 1 दिन में 111 लोगों से 1 लाख से अधिक जुर्माना वसूल किया है। साफ-सफाई की निगरानी के लिए खासतौर पर मार्शलों को तैनात किया गया है।

बीएमसी का कहना है कि भीड़भाड़ वाले स्थानों पर थूकने से बीमारी फैलने की आशंका रहती है इसलिए ऐसे कदम उठाए जा रहे हैं। बीएमसी ने पहले-पहले सार्वजनिक स्थानों पर थूकने वालों से 200 रुपए का जुर्माना रखा था, लेकिन अब इसे बढ़ाकर 1,000 रुपए किया गया है।

बीएमसी का कहना है कि जुर्माने की बढ़ी रकम के कारण लोग सड़कों पर थूकने से बचेंगे। बीएमसी ने बुधवार शाम तक 111 लोगों से 1 लाख 11 हजार रुपए जुर्माना वसूल किया। गौरतलब है कि मुंबई में कोरोना वायरस से मौत का मामला भी सामने आया था।

ये भी पढ़ें…कांग्रेस ने कोरोना को लेकर सरकार से की ये मांग, पीएम मोदी ने कही ऐसी बात

भारत में संख्या 175 के पार

देश के विभिन्न हिस्सों से कोरोना वायरस के कई नए मामले सामने आने के बाद भारत में इससे संक्रमित लोगों की संख्या गुरुवार को 175 हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार इन लोगों में 25 विदेश नागारिक भी शामिल हैं, जिनमें से 17 इटली, तीन फिलीपीन्स, दो ब्रिटेन और कनाडा, इंडोनेशिया तथा सिंगापुर के एक-एक नागरिक हैं। दिल्ली, कर्नाटक और महाराष्ट्र में वायरस से 3 लोग इस बीमारी से मर चुके हैं।

50 शहरों में 850 लोगों के लिए गए सैंपल

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के महानिदेशक बलराम भार्गव ने कहा कि कोरोना वायरस के कम्युनिटी ट्रांसमिशन के बारे में जानकारी एकत्र करने के लिए 50 शहरों से 850 लोगों के सैंपल लिए गए हैं।

हालांकि ये सभी सैंपल निगेटिव रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘हम और ज्यादा बड़े पैमाने पर सैंपल लेंगे। मौजूदा अध्ययन के अनुसार पता चलता है कि यह वायरस कम्युनिटी से नहीं फैलता है।’

कोरोना को लेकर मचा है हाहाकार, यहां जांच के नाम पर हो रहा ऐसा

मुंबई में 2 नए केस

कोरोना वायरस से मुंबई में गुरुवार को दो और महिलाएं कोरोना वायरस से संक्रमित पाई गईं।

महाराष्ट्र में अब वायरस से कुल 47 लोग संक्रमित हो चुके हैं। अधिकारियों ने बताया कि एक महिला ब्रिटेन से आई थी और एक दुबई से लौटी थी।

अधिकारी ने कहा, ‘मुंबई में ब्रिटेन से लौटी 22 वर्षीय महिला कोविड-19 से संक्रमित पाई गई है।

वहीं उल्हासनगर की 49 वर्षीय निवासी दुबई से लौटी थीं।’ देश की आर्थिक राजधानी में चहल-पहल खत्म हो गई है। लाइफ लाइन लोकल ट्रेनों में भी भीड़ बेहद कम हो गई है।

छत्तीसगढ़ में महिला संक्रमित

छत्तीसगढ़ में 23 साल की महिला कोरोना पॉजिटिव पाई गई है। उसकी ट्रैवल हिस्ट्री यूके से है। उसे रायपुर के AIIMS में क्वैरंटाइन में रखा गया है।

आंध्र प्रदेश में कोरोना वायरस का दूसरा केस

आंध्र प्रदेश में गुरुवार को कोरोना वायरस संक्रमण के दूसरे मामले की पुष्टि हुई।

राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि 15 मार्च को इंग्लैंड से लौटा एक शख्स इस विषाणु से संक्रमित पाया गया है।

विभाग ने कहा, ‘युवक को ओंगोले में रिम्स के अलगाव वार्ड में भर्ती कराया गया है और उसकी हालत स्थिर है।’

इटली से 12 मार्च को नेल्लोर लौटे एक अन्य व्यक्ति के भी संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी जो आंध्र प्रदेश में कोरोना वायरस का पहला मामला था।

 84 और ट्रेनों को किया रद्द

रेलवे ने कोरोना वायरस के खतरे और यात्रियों की कम संख्या के कारण गुरुवार को 84 और ट्रेनों को रद्द कर दिया जो 20 से 31 मार्च के बीच नहीं चलेंगी। अधिकारियों ने बताया कि इसके साथ ही रद्द ट्रेनों की कुल संख्या 155 पर पहुंच गई है।

रेलवे ने बुधवार रात को करीब 99 ट्रेनों को रद्द किया था।

अधिकारी ने बताया, ‘इन ट्रेनों में टिकट कराने वाले सभी यात्रियों को व्यक्तिगत रूप से इसके बारे में सूचित किया जा रहा है।’

रिलायंस के कर्मचारी करेंगे घर से काम

भारत में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के चलते देश के प्रमुख कारोबारी समूह रिलायंस इंडस्ट्रीज ने अपने कर्मचारियों को घर से काम करने के लिए कहा है और समूह अस्पताल, खुदरा दुकानों और दूरसंचार जैसे उपभोक्ता से सीधे रूबरू होने वाले कारोबारों में न्यूनतम कर्मचारियों से काम चलाएगा।

अधिकारियों ने बताया कि अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी अपने कर्मचारियों और व्यापार पर नए कोरोनावायरस (कोविड -19) के प्रकोप के प्रभाव का मूल्यांकन करने के लिए लगभग हर तीसरे दिन एक बैठक करेंगे।

ये भी पढ़ें…कोरोना को लेकर मचा है हाहाकार, यहां जांच के नाम पर हो रहा ऐसा