रांची: कोर्ट ने कुरान बांटने की शर्त में किया बदलाव, हो रहा था विरोध

सोशल मीडिया पर एक धर्म विशेष के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने के आरोप में गिरफ्तार हुई छात्रा को रांची की कोर्ट ने जमानत दी थी। साथ ही कोर्ट ने आरोपी को पवित्र कुरान की पांच प्रतियां बांटने की शर्त रखी थी। 

रांची: सोशल मीडिया पर एक धर्म विशेष के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने के आरोप में गिरफ्तार हुई छात्रा को रांची की कोर्ट ने जमानत दी थी। साथ ही कोर्ट ने आरोपी को पवित्र कुरान की पांच प्रतियां बांटने की शर्त रखी थी। इसके बाद आरोपी ऋचा भारती ने ऐसी सजा के खिलाफ विरोध जताया था और कहा था कि वह कुरान नहीं बांटना चाहती हैं।

कोर्ट ने कथित आक्रामक फेसबुक पोस्ट को लेकर गिरफ्तार की गई कॉलेज छात्रा को कुरान की प्रतियां दान करने की शर्त पर जमानत देने के अपने आदेश में बुधवार को संशोधन किया।

यह भी पढ़ें…भारत की बड़ी जीत, अंतरराष्ट्रीय कोर्ट ने कुलभूषण की फांसी पर लगाई रोक

न्यायिक मजिस्ट्रेट मनीष कुमार सिंह ने रिचा भारती को सशर्त जमानत दी थी और कहा था कि वह कुरान की एक प्रति पुलिस अधिकारियों की मौजूदगी में स्थानीय अंजुमन कमेटी तथा चार अन्य प्रति शहर के विभिन्न पुस्तकालयों को दान करे।

अदालत के इस आदेश की सोशल मीडिया पर जमकर आलोचना हुई और मंगलवार को टि्वटर पर #रिचा भारती ट्रेंड करने लगा। बुधवार को अदालत ने अपने आदेश में संशोधन किया और छात्रा को सात हजार रुपये की जमानत राशि तथा इतनी ही राशि के दो मुचलकों पर नियमित जमानत दे दी।

यह भी पढ़ें…कुलभूषण केस में भारत की बड़ी जीत, पाक की किरकिरी, पढ़ें ICJ का पूरा फैसला

न्यायिक मजिस्ट्रेट सिंह ने जमानत की शर्त के रूप में कहा कि एक जमानती रांची से तथा दूसरा जमानती याचिकाकर्ता का रिश्तेदार होना चाहिए।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App