अयोध्या के विकास के लिए 400 करोड़ 46 लाख रूपये स्वीकृत

अयोध्या 12 फरवरी 2020- जिला योजना 2020-21 हेतु 400 करोड़ 46 लाख रूपये का परिव्यय स्वीकृत। जिसमें 248 करोड़ 13 लाख पूंजीगत मद मे तथा 152 करोड़ 33 लाख रूपये…

अयोध्या।  अयोध्या 12 फरवरी 2020- जिला योजना 2020-21 हेतु 400 करोड़ 46 लाख रूपये का परिव्यय स्वीकृत। जिसमें 248 करोड़ 13 लाख पूंजीगत मद मे तथा 152 करोड़ 33 लाख रूपये राजस्व मद में व्यय किये जायेंगे।

ये भी पढ़ें- राहुल गांधी ने लगाया आरोप, कहा सरकार इस खतरे को नहीं ले रही गंभीरता से

कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित जिला योजना की बैठक में उक्त आशय की जानकारी देते हुए राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभाग पर्यटन सांस्कृति धर्मार्थकार्य एवं जिले के प्रभारी मंत्री डा. नीलकण्ठ तिवारी ने देते हुए बताया कि उक्त स्वीकृत परिव्यय में केन्द्र पुरोनिर्धारित योजनाओ हेतु 195 करोड़ 22 लाख रूपये है जो कुल स्वीकृत परिव्यय का 48.75 प्रतिशत है।

अन्य मदो पर 10 करोड़ 36 लाख रूपये का व्यय प्रस्तावित किया गया

स्वीकृत परिव्यय मे से कृषि क्षेत्र में 25 करोड़ 44 लाख, वनों के विस्तार में 20 करोड़ 98 लाख, रूपये, ग्रामीण स्वच्छता पर 22 करोड़ 40 लाख रूपये, रोजगार सृजन पर 121 करोड़ 69 लाख, परिवहन पर 25 करोड़ 44 लाख रूपये, स्वास्थ्य पर 53 करोड़ 27 लाख रूपये, सामाजिक सुरक्षा पर 49 करोड़ 13 लाख, प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास पर 18 करोड़ रूपये तथा अन्य मदो पर 10 करोड़ 36 लाख रूपये का व्यय प्रस्तावित किया गया है।

ये भी पढ़ें- दिल्ली के एलजी अनिल बैजल को अरविंद केजरीवाल ने पत्र लिखा, सरकार बनाने का दावा किया पेश

चालू वित्तीय वर्ष में जिला योजना को प्रभावी एवं लोक कल्याणकारी बनाने के लिए बेरोजगारी दूर करने गरीबी उन्मूलन, आर्थिक अवस्थापना सुविधाओ तथा सामाजिक समरूपता पर बल देते हुए शासन से प्राप्त दिशा निर्देशों को ध्यान में रखते हुए संरक्षित की गई है।

कार्यक्रम एवं कार्य योजनाएं प्रस्तावित की गई


उन्होंने आगे बताया कि जिला योजना की संरचना करते समय नवीन प्रक्रिया के अनुसार केंद्र पुरोनिर्धारित योजनाओं सहित जनपद की ग्राम पंचायतों, क्षेत्र पंचायतों एवं जिला पंचायत के अंतर्गत गठित विकास योजना समितियों द्वारा उसकी स्थानीय आवश्यकताओं को दृष्टिगत रखते हुए जो कार्यक्रम एवं कार्य योजनाएं प्रस्तावित की गई हैं।

 

उन सभी कार्यक्रमों एवं योजनाओं को सम्मिलित करते हुए जनपद के ग्रामीण क्षेत्र हेतु सम्यक रूप से जो कार्यक्रम एवं आवश्यकताएं इंगित की गई है ।

उसके अनुसार 450 सोलर लाइट, 1881 शिक्षामित्रों का मानदेय, 2 लाख 18 हजार प्राथमिक उच्च प्राथमिक छात्र-छात्राओं के मिड डे मील की व्यवस्था, 1500 प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास, 18667 स्वच्छ शौचालय निर्माण, 7500 लघु एवं सीमांत कृषकें की सहायता आदि पर, संस्थागत प्रसव हेतु जेएसवाई भुगतान, आशा बहूओ खंड प्रेरक का मानदेय, 1 लाख 96 हजार 269 गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण मानदेय एवं प्रोत्साहन राशि, 44.80 किलोमीटर सड़क निर्माण गढ्ढा मुक्ति, नव प्राथमिक एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों की स्थापना एवं भवन निर्माण, 64 हजार 490 वृद्धावस्था, द्विव्यांग एवं पति की मृत्यु के उपरांत निराश्रित महिलाओं को पेंशन की व्यवस्था सम्मिलित है।

जिला योजना में पूंजीगत मद में 248 करोड़ 21 लाख का परिव्यय स्वीकृत कर परिसम्पतियो के सृजन किया जायेगा।

बैठक में सम्पूर्ण जिला योजना का प्रस्तुतीकरण जिलाधिकारी अनुज कुमार झा द्वारा किया गया उनके द्वारा बैठक में उपस्थित मा0 मंत्री जी एवं जन प्रतिनिधियो के समक्ष एक-एक योजनाओ का पूरा व्यौरा प्रस्तुत किया। मुख्य विकास अधिकारी प्रथमेश कुमार ने भी विकास योजनाओ के संबंध में विस्तार से सभी को बताया।

बैठक में, नगर निगम के महापौर ऋषिकेश उपाध्याय, गोसाईगंज विधायक इन्द्र प्रताप तिवारी उर्फ खब्बू, सांसद लल्लू सिंह के प्रतिनिधि ओमप्रकाश सिंह, अयोध्या विधायक वेद गुप्ता के प्रतिनिधि हरभजन गौड़, भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष अवधेश पाण्डेय उर्फ बादल, एमएलसी हीरालाल यादव के प्रतिनिधि मनोज जायसवाल, एमएलसी ध्रुव कुमार के प्रतिनिधि अनुज कुमार तिवारी, जिलाधिकारी अनुज कुमार झा, मुख्य विकास अधिकारी प्रथमेश कुमार, नगर आयुक्त नीरज शुक्ला, एसपी सिटी विजय पाल सिंह, बेसिक शिक्षाधिकारी, उपायुक्त नरेगा नागेन्द्र मोहन त्रिपाठी, जिलाविकास अधिकारी हवलदार सिंह सहित सभी जिलास्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

गम्भीर शिकायते बैठक में उठाई और कार्यवाही की मांग की

बैठक में विधायक गोसाईगंज इन्द्रप्रताप तिवारी ने मसौधा चीनी मिल के अन्तर्गत आने वाले गन्ना क्षेत्र के किसानो की समस्या उठाई। उन्होंने कहा कि सर्वे के दोरान गैर गन्ना किसानो का बड़े भू-भाग को दिखाकर उन्हें पर्ची आवंटित की गई जबकि वास्तविक गन्न किसानो को गन्ना पर्ची ही नही मिल रही है। उन्होंने गन्ना तौल लिपिक के विरूद्ध गम्भीर शिकायते बैठक में उठाई और कार्यवाही की मांग की।

गौ वंश आश्रय स्थल की समस्याओ को उठाया


जन प्रतिनिधियो ने अपने-अपने क्षेत्रो की समस्याओ सहित रायबरेली रोड पर उपजे जानलेवा गढ्ढा, मकबरा स्थित स्टेडियम के खस्ताहाल हास्टल, जिला अ्रस्पताल के खराब अल्ट्रासाउण्ड मशीन, 14 कोसी परिक्रमा के दौरान साआदतगंज हनुमानगढ़ी एवं दर्शननगर में अत्याधिक भीड़ को देखते हुए ओवरवृज के निर्माण, दशरथ समाधि के निकट अन्तेष्टि स्थल, धानक्रय केन्द्र बन्द होने की समस्यायो केसाथ गौ वंश आश्रय स्थल की समस्याओ को उठाया।