Paytm के ग्राहक सावधान: भूलकर भी न करें ऐसा, नहीं तो हैक हो जाएगा बैंक अकाउंट

ट्वीट में पेटीएम के संस्थापक ने लोगों को ऑनलाइन ठगी का शिकार होने से बचने को कहते हुए यूजरों को एक नए तरह के ऑनलाइन फ्रॉड के बारे में बताया।

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के चलते पूरे देश में लॉकडाउन लागू है। ऐसे में लोग अपने घरों से कम निकल रहे हैं। ऐसे में लोग कोरोना वायरस के डर की वजह से किसी भी चीज का नकद पेमेंट करने में हिचक रहे हैं। लोग नकद रुपयों की जगह ऑनलाइन पेमेंट का ज्यादा प्रयोग कर रहे हैं। जिसके लिए लोग ऑनलाइन पेमेंट ऐप जैसे पेटीएम वगैरह का इस्तेमाल ज्यादा कर रहे हैं। ऐसे में साइबर क्राइम के चांसेज भी ज्यादा बढ़ गए हैं। इस लिए ऐसे में सभी को सचेत रहने की काफी जरूरत है। ऐसे में पेटीएम की ओर से लोगों को सलाह दी गई है कि किसी भी प्रकार के झांसे में न आएं। और पैसा दोगुना करने जैसी बातों पर ध्यान न दें।

पेटीएम ने किया लोगों को आगाह

लोगों को साइबर क्राइम से सचेत करते हुए पेटीएम के संस्थापक विजय शेखर शर्मा एक ट्वीट किया है। इस ट्वीट में उन्होंने लोगों को ऑनलाइन ठगी का शिकार होने से बचने को कहते हुए यूजरों को एक नए तरह के ऑनलाइन फ्रॉड के बारे में बताया। इस पोस्ट में पेटीएम यूजरों को पैसा दोगुना करने का वादा करके ठगा जा रहा है। वैसे ये पहली बार नहीं है जब पेटीएम के नाम पर ठगी का मामला सामने आया हो या पेटीएम ने पहली बार लोगोंको आगाह किया हो। इससे पहले भी पेटीएम की ओर से लोगों को आगाह किया जा चुका है।

ये भी पढ़ें-     एटा: थाना कोतवाली देहात क्षेत्र के ग्राम नगला केवल में हाईटेंसन लाइन से जला मजदूर

बीते साल नवंबर में भी पेटीएम संस्थापक विजय शेखर शर्मा ने केवाईसी के बारे में पूछने वाले कॉल और एमएसएस को लेकर यूजरों को सावधान किया था। कई ट्वीट कर संस्थापक शर्मा ने लोगों से कहा था कि लोगों को ऐसे किसी एसएमएस पर यकीन नहीं करना चाहिए जो कहता हो कि आपका पेटीएम अकाउंट ब्‍लॉक किया जा रहा है या केवाईसी कराने का सुझाव दे रहा हो। उन्‍होंने बताया था कि इस तरह के कॉल या मैसेज का मकसद आपके स्‍मार्टफोन का रिमोट एक्‍सेस पा लेना है। पेटीएम का कोई कर्मचारी कभी भी आपसे पिन, ओटीपी, पासवर्ड रीसेट लिंक, डेबिट कार्ड सीवीवी या पिन या बैंक का ब्‍योरा नहीं मांगता है।

लॉकडाउन में बढ़ा साइबर क्राइम

Cyber Crime को रोकने के लिए महाराष्ट्र के होम मिनिस्टर अनिल देशमुख ने शनिवार को चेतावनी दी है कि इस तरह के आपराधिक गतिविधियों में संलग्न लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी। होम मिनिस्टर ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान राज्य में सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लेटफॉर्म जैसे व्हाट्सप, फेसबुक, ट्विटर, इंस्ट्राग्राम और टिकटॉक पर साइबर क्राइम की बाढ़ आई है।

ये भी पढ़ें-    शोक में बॉलीवुड: एक्टर की मौत से दुखी हुई परिणीति, कही ये बड़ी बात

इनमें दुरभावना और अपवाह फैलाने वाले मैसेज, महिलाओं के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट, समाज में संप्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने वाले मैसेज जैसे अपराध शामिल हैं। कोरोना वायरस के चलते देश में लगे लॉकडाउन की वजह से देश में और आपराधिक घटनाएं तो कम घट रही हैं। लेकिन साइबर क्राइम ऐसे में समय में देश में औसतन बढ़ गया है। ऐसे में इस पर लगाम लगाना काफी जरूरी है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App