×

दिहाड़ी मजदूर रातोंरात बन गया करोड़पति, लगी 12 करोड़ की लॉटरी

केरल के कन्नूर के रहने वाले और मजदूरी करने वाले पेरून्नन राजन की किस्मत चमक गई है। बीते 10 फरवरी को उनके साथ ऐसा हुआ जिससे उनकी जिंदगी बदल गई। पेरून्नन राजन दिहाड़ी मजदूरी करते हैं।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 12 Feb 2020 11:49 AM GMT

दिहाड़ी मजदूर रातोंरात बन गया करोड़पति, लगी 12 करोड़ की लॉटरी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: केरल के कन्नूर के रहने वाले और मजदूरी करने वाले पेरून्नन राजन की किस्मत चमक गई है। बीते 10 फरवरी को उनके साथ ऐसा हुआ जिससे उनकी जिंदगी बदल गई। पेरून्नन राजन दिहाड़ी मजदूरी करते हैं। मजदूरी करने वाले राजन की 12 करोड़ की लॉटरी लग गई है और टैक्स कटने के बाद भी उनके खाते में तकरीबन 7 करोड़ रुपये आएंगे।

राजन ने बताया कि उन्हें अब भी यह किसी सपने की तरह लगता है कि वह रातोंरात करोड़पति बन गए। केरल के मलूर के थोलांबरा इलाके रहने वाले 58 साल के राजन दिहाड़ी मजदूरी करके अपने परिवार का भरण पोषम करते हैं।

परिवार की आर्थिक हालत खराब होने के बावजूद वह लॉटरी का टिकट खरीदना नहीं भूलते थे। उन्हें भरोसा था कि किसी दिन उनकी किस्मत जरूर बदलेगी।

यह भी पढ़ें...हादसे से दहला यूपी: बच्चों से भरी बसें आपस में टकराईं, कई घायल

कई बार क्रॉस चेक किए नतीजे

लॉटरी लगने के बाद राजन ने कहा कि उन्होंने इतनी बड़ी कामयाबी के बारे में कभी नहीं सोचा था। उनका कहना है कि कल जब लॉटरी के नतीजे घोषित किए गए तब उन्होंने उम्मीद नहीं की थी कि वह इसके विजेता बनेंगे, लेकिन जब उन्होंने अपने परिवार के साथ नतीजे देखे तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। राजन ने बताया कि लॉटरी टिकट बैंक में जमा करने से पहले उन्होंने रिजल्ट को कई बार क्रॉस-चेक किया था।

यह भी पढ़ें...हाफिज सईद को मिली सजा: क्या सच में पाकिस्तान ने आतंक पर उठाया ये बड़ा कदम…

राजन ने बताया कि उन्होंने पहले थोलांबरा के को-ऑपरेटिव बैंक में संपर्क किया। वहां अधिकारियों ने उन्हें कन्नूर के जिला बैंक जाने के लिए कहा। इसके बाद वह अपनी पत्नी रजनी, बेटे रिगिल और बेटी अक्षरा के साथ बैंक पहुंचे और वहां टिकट सबमिट किया।

यह भी पढ़ें...अभी-अभी दिल्ली में सनसनी: पांच लाशों को देख उड़ गये सबके होश, जांच शुरू

लॉटरी में मिले पैसों के इस्तेमाल के बारे में पूछे जाने पर राजन ने बताया कि सबसे पहले तो उन पर कुछ देनदारियां हैं, जिन्हें उन्हें निपटाना है। इसके बाद वह आसपास के जरूतमंद लोगों के लिए कुछ करना चाहेंगे। राजन ने कहा कि वह पसीने की कीमत जानते हैं और यह भी जानते हैं कि पैसे कमाना आसान नहीं है। ऐसे में वह इस धनराशि को बेकार नहीं होने देना चाहते।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story