गणतंत्र दिवस पर इन दो राज्यों का हुआ विलय, अब भारत में 8 केंद्र शासित प्रदेश

71वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर आज से दमन-दीव और दादरा-नगर हवेली को एक केंद्र शासित प्रदेश माना जाएगा। इससे पहले मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर का विभाजन किया था।

modi

दिल्ली: 71वें गणतंत्र दिवस के मौके पर भारत के दो राज्यों का विलय हो गया। इसी के साथ रविवार यानी आज से भारत में 8वां केंद्र शासित प्रदेश अस्तित्व में आ गया है। बता दें कि मोदी सरकार ने दादरा-नगर हवेली और दमन-दीव का विलय करने का ऐलान किया था। इससे पहले मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर का विभाजन कर 2 केंद्र शासित प्रदेश-जम्मू-कश्मीर और लद्दाख बनाया है।

दमन-दीव और दादरा-नगर हवेली का हुआ विलय:

71वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर आज से दमन-दीव और दादरा-नगर हवेली को एक केंद्र शासित प्रदेश माना जाएगा। मोदी सरकार ने प्रशासन को बेहतर बनाने के लिए दादरा-नगर हवेली और दमन-दीव का विलय किया है।

दो केंद्र शासित प्रदेशों को मिलाकर बना दादरा और नगर हवेली तथा दमन और दीव संघ राज्य क्षेत्र आज से अस्तित्व में आया। नवगठित केंद्र शासित प्रदेश दमन दीव और दादर व नगर हवेली की राजधानी दमन होगी। बता दें कि यह फैसला मोदी कैबिनेट की बुधवार को हुई पिछली बैठक में लिया गया था। संसद ने 3 दिसंबर को दादर नगर हवेली और दमन व दीव के 2 केंद्र शासित प्रदेशों को विलय करने के लिए दादर व नगर हवेली और दमन दीव (केंद्र शासित प्रदेशों का विलय) विधेयक, 2019 पारित किया था।

ये भी पढ़ें: Republic Day Live: जमीन पर T-90 भीष्म टैंक, आसमान में मिसाइल की नुमाइश

इनके विलय का उद्देश्य ये:

मोदी सरकार ने दादर व नगर हवेली और दमन दीव के विलय का फैसला इसलिए लिया ताकि दोनों क्षेत्रों में प्रशासन को बेहतर बनाने के प्रबंधन हो सके। यह कदम जम्मू-कश्मीर राज्य के 2 केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजन के 3 महीने बाद आया था। दादरा और नगर हवेली में सिर्फ एक जिला है जबकि दमन और दीव में दो जिले हैं। ऐसे में केंद्र को दोनों केंद्र शासित प्रदेशों के लिए अलग-अलग सचिवालयों और दूसरे बुनियादी ढांचों पर खर्च करना पड़ता था।

अब भारत में आठ केंद्र शासित प्रदेश :

गौरतलब है कि दमन-दीव और दादरा नगर हवेली के विलय के बाद अब देश में आठ केंद्र शासित राज्य होंगे। इससे पहले जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के गठन के बाद देश में केंद्र शासित राज्यों की संख्या 9 हो गई थी। इस विलय के बाद एक संख्या घटकर अब आठ हो जाएगी।

ये भी पढ़ें:गणतंत्र दिवस के मौके पर ब्लास्ट: यहां चार बम धमाकों से दहला राज्य, मचा हड़कंप

    Tags: