दिल्ली सरकार का बड़ा फैसला: अब ऐसे कंट्रोल होगा पॉल्यूशन, लॉन्च हुई नई पॉलिसी

राज्य में प्रदूषण से निपटने के लिए सरकार ने इलेक्ट्रिक व्हीकल पॉलिसी (Electric Vehicle Policy) लॉन्च किया है। इसकी जानकारी राज्य के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दी है।

CM Arvind Kejriwal

CM Arvind Kejriwal

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पॉल्यूशन को कम करने के लिए दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने अहम फैसला किया है। राज्य में प्रदूषण से निपटने के लिए सरकार ने इलेक्ट्रिक व्हीकल पॉलिसी (Electric Vehicle Policy) लॉन्च किया है। इसकी जानकारी राज्य के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दी है। केजरीवाल ने इस नई पॉलिसी को प्रगतिशील बताया और दावा किया कि इससे राज्य में प्रदूषण में कमी आएगी।

दिल्ली की अर्थव्यवस्था बेहतर होने की उम्मीद

सरकार का दावा है कि इससे प्रदूषण में कमी तो आएगी ही साथ ही रोजगार बढ़ेंगे और पांच साल पांच लाख गाड़ियों का रजिस्ट्रेशन होगा। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इससे दिल्ली की अर्थव्यवस्था के और बेहतर होने की उम्मीद है।

यह भी पढ़ें: शिक्षकों की शर्तः शैक्षिक दस्तावेजों की जांच से पहले हो सीएम पीएम की जांच

देश की सबसे प्रगतिशील नीति है इलेक्ट्रिक वाहन नीति

एक प्रेस वार्ता में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमने आज इलेक्ट्रिक वाहन नीति का नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। उन्होंने कहा कि इस नीति के जरिए हमारा मकसद दिल्ली की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देना, रोजगार को बढ़ाना और दिल्ली में प्रदूषण के स्तर को कम करने का है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह इलेक्ट्रिक वाहन नीति देश की सबसे प्रगतिशील नीति है।

यह भी पढ़ें: दहल उठा जम्मू: लगातार हो रही ताबड़तोड़ गोलाबारी, मोर्टारों से सहमे लोग

kejriwal

200 चार्जिंग स्टेशन

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उम्मीद जताते हुए कहा कि पांच साल में पांच लाख नई गाड़ियों का रजिस्ट्रेशन होगा। इलेक्ट्रिक व्हीकल पॉलिसी को लागू करने के लिए एक ‘ईवी सेल’ स्थापित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हमारा उद्देश्य है कि एक साल के अंदर 200 चार्जिंग स्टेशन हो जाएं। जिससे तीन किलोमीटर के आसपास आपकी गाड़ी के लिए चार्जिंग आसान हो सके।

यह भी पढ़ें: राम मंदिर: मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के बयान पर बवाल, जिलानी ने कही ऐसी बात

स्टेट इवी फंड के माध्यम से होगा इसका खर्च

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि एक स्टेट इवी फंड के माध्यम से इसका खर्च किया जाएगा। सीएम ने बताया कि एक स्टेट इलेक्ट्रिकल व्हीकल बोर्ड बनाया जाएगा। इसके अध्यक्ष राज्य के ट्रांसपोर्ट मंत्री होंगे। इसके अलावा एक समर्पित ईवी सेल बनाया जाएगा जो पूरी नीति को लागू करने में सहायक होगा। उन्होंने कहा कि जिस तरह से हमारे सभी मॉडल की पूरे देश में चर्चा हो रही है, उसी तरह इलेक्ट्रिव व्हीकल पॉलिसी की भी चर्चा होगी।

यह भी पढ़ें: रेलवे की बड़ी पहल: चलाई किसान रेल, होगा फायदा ही फायदा, जानें इसकी खासियत

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App