Top

गिरफ्तार होंगे राकेश टिकैत: दिल्ली में बढ़ी हलचल, किसान नेता पर तगड़ा एक्शन

राकेश टिकैत ने कहा कि जिन्होंने उल्टे सीधे ट्रैक्टर घुमाए उनसे हमारा कोई संबंध नहीं है। हिंसा का शब्द ना तो हमारी डिक्शनरी में है और ना ही होगा। लाल किले पर जो कुछ भी हुआ, उससे आंदोलन को तोड़ने की साजिश रची गई।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 28 Jan 2021 12:41 PM GMT

गिरफ्तार होंगे राकेश टिकैत: दिल्ली में बढ़ी हलचल, किसान नेता पर तगड़ा एक्शन
X
गिरफ्तार होंगे राकेश टिकैत: दिल्ली में बढ़ी हलचल, किसान नेता पर तगड़ा एक्शन
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: गणतंत्र दिवस के मौके पर किसानों द्वारा निकाले गए ट्रैक्टर परेड के दौरान जमकर हिंसा देखने को मिली। जिसके बाद अब किसानों के आंदोलन के भविष्य पर सवाल खड़े हो रहे हैं। वहीं हिंसा के मामले में एक्शन लेते हुए गुरुवार को पुलिस ने कई किसान नेताओं को नोटिस भेजा है और तीन दिन के अंदर अपना जवाब देने को कहा है। इस बीच किसान नेता राकेश टिकैत को लेकर बड़ी खबर आ रही है।

राकेश टिकैत थोड़ी देर में कर सकते हैं सरेंडर

दरअसल, ऐसा कहा जा रहा है कि राकेश टिकैत सरेंडर कर सकते हैं। इससे पहले धरना खत्म करने के लिए गाजियाबाद प्रशासन और पुलिस के आला अधिकारियों ने राकेश टिकैत को समझाया है। इससे पहले भारतीय किसान यूनियन के राकेश टिकैत ने कहा था कि अगर सरकार इस आंदोलन को खत्म करना चाहती है तो फिर यहां से हमें गिरफ्तार कर ले। इसके साथ ही उन्होंने किसानों का धन्यवाद किया।

यह भी पढ़ें: भारत के लिए अच्छी खबर: लगातार कम हो रहे कोरोना के केस, रिकवरी रेट हुई इतनी

farmers leader rakesh tikait (फोटो- सोशल मीडिया)

किसान नेता ने कही ये बात

राकेश टिकैत ने कहा कि जिन्होंने उल्टे सीधे ट्रैक्टर घुमाए उनसे हमारा कोई संबंध नहीं है। हिंसा का शब्द ना तो हमारी डिक्शनरी में है और ना ही होगा। लाल किले पर जो कुछ भी हुआ, उससे आंदोलन को तोड़ने की साजिश रची गई। उन्होंने कहा कि प्रशासन अपनी चाल में कामयाब हो गया है। उन्होंने कहा कि धार्मिक भावनाओं को भड़काकर एक धार्मिक ध्वज फहराया गया। लाल किले की प्राचीर पर जो गया उसकी फोटो किसके साथ है।

यह भी पढ़ें: किसान आंदोलन: राकेश टिकैत ने कहा- प्रशासन ने किसानों को जाल में फंसाया

गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों के धरने के खिलाफ स्थानीय लोग

उन्होंने कहा कि यह एक वैचारिक लड़ाई है, जो विचार से ही खत्म होगा। लाठी या डंडे से नहीं। इस बीच गाजीपुर बॉर्डर पर स्थानीय लोग किसानों के धरने के खिलाफ जुटे हैं। वे लगातार नारेबाजी कर रहे हैं। स्थानीय लोग नारे लगा रहे हैं कि 'फर्जी किसान बॉर्डर खाली करो'। वे दिल्ली पुलिस और यूपी पुलिस के समर्थन में भी नारेबाजी कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: मोबाइल में मौत का वक्त: बच्चे ने उठाया खौफनाक कदम, मिला इस हालत में

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story