दिल्ली हिंसा पर गृह मंत्री अमित शाह ने लिया बड़ा एक्शन, कांप उठे दंगाई

उत्तरपूर्वी दिल्ली में मंगलवार को नए सिरे से हिंसा भड़क गई जिसमें मृतक संख्या बढ़कर 23 हो गई है। दिल्ली हिंसा को लेकर गृहमंत्री अमित शाह ने 24 घंटे में तीन बैठकें की।

नई दिल्ली: उत्तरपूर्वी दिल्ली में मंगलवार को नए सिरे से हिंसा भड़क गई जिसमें मृतक संख्या बढ़कर 23 हो गई है। दिल्ली हिंसा को लेकर गृहमंत्री अमित शाह ने 24 घंटे में तीन बैठकें की। गृह मंत्री की बैठक में भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी एसएन श्रीवास्तव भी मौजूद थे, जिन्हें स्पेशल पुलिस कमिश्नर नियुक्त किया गया था।

यह बैठक दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक, कांग्रेस नेता सुभाष चोपड़ा, भाजपा नेता मनोज तिवारी के साथ दिल्ली की कानून-व्यवस्था पर चर्चा करने के कुछ घंटे बाद ही हुई। अमित शाह ने सभी पार्टियों के नेताओं से कहा कि पार्टी की राजनीति से ऊपर उठकर दिल्ली में शांति बहाली की कोशिश करें।

ये भी पढ़ें…दिल्ली हिंसा पर बड़ा खुलासा: IB अफसर की हत्या में इस AAP नेता का हाथ!

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल ने भी देर रात उत्तर पूर्वी दिल्ली के हिंसा प्रभावित इलाकों में जाकर वहां हालात का जायजा लिया। इससे पहले उन्होंने दिल्ली पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक भी की।

वहीं, मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को केन्द्रीय गृह मंत्रालय को बताया कि दिल्ली के कुछ हिस्सों में भड़की हिंसा को तुरन्त नियंत्रित करने के लिये उसके पास पर्याप्त बल नहीं थे। यह जानकारी अधिकारियों ने दी।

एक अधिकारी ने अपना नाम गुप्त रखने की शर्त पर बताया कि दिल्ली पुलिस के आयुक्त अमूल्य पटनायक ने गृह मंत्रालय के शीर्ष अधिकारियों के साथ अपनी बैठक के दौरान पर्याप्त बलों की अनुपलब्धता के बारे में जानकारी दी।

दिल्ली हिंसा पर HC की टिप्पणी- इस शहर में एक और 1984 की इजाजत नहीं दे सकते

पर्याप्त बल नहीं था जिसके कारण बिगड़ी स्थिति

अधिकारी ने बताया कि दिल्ली पुलिस ने गृह मंत्रालय को बताया कि उसके पास उत्तरपूर्व दिल्ली में हिंसा को तुरन्त नियंत्रित करने के लिए पर्याप्त बल नहीं था जिसके कारण स्थिति बिगड़ी।

हालांकि, कुछ घंटे बाद दिल्ली पुलिस के जनसम्पर्क अधिकारी (पीआरओ) मंदीप सिंह रंधावा ने कहा कि गृह मंत्रालय की किसी भी बैठक में दिल्ली पुलिस के अधिकारियों द्वारा यह नहीं कहा गया कि ‘हमारे पास पर्याप्त बल नहीं है। उन्होंने कहा, ‘‘जमीन पर हमारे पर्याप्त बल तैनात हैं और हमें अतिरिक्त बल भी मुहैया कराए गए हैं।”

बता दें, उत्तरपूर्वी दिल्ली में मंगलवार को नए सिरे से हिंसा भड़क गई जिसमें मृतक संख्या बढ़कर 23 हो गई है। पुलिस भीड़ पर काबू पाने की जद्दोजेहद में लगी रही जो गलियों में घूम रही थी। भीड़ में शामिल लोग दुकानों को आग लगा रहे थे, पथराव कर रहे थे और वे स्थानीय लोगों के साथ मारपीट कर रहे थे।

राष्ट्रीय राजधानी के उत्तरपूर्वी इलाके में तनाव के दूसरे दिन हिंसा चांदबाग और भजनपुरा सहित कई क्षेत्रों में फैल गई। इस दौरान पथराव किया गया, दुकानों को आग लगायी गयी, दंगाइयों ने गोकलपुरी में दो दमकल वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया।

दिल्ली हिंसा पर इमरान ने पीएम मोदी को निशाने पर लिया, कही ये बड़ी बात