दिल्ली हिंसा मास्टरमाइंड ताहिर! जानें दिल्ली ‘सुलगाने’ के पीछे कौन है ये शख्स

मिली जानकारी के मुताबिक अंकित की मां ने बताया कि ताहिर हुसैन के समर्थक हमारे घर में घुसकर अंकित समेत चार लोगों को ले गए जिनमें तीन लोगों की मौत हो गई है और एक व्यक्ति की अभी कोई जानकारी नहीं मिल सकी है।

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली पिछले ​कई दिनों से सुलग रही है। हिंसा में अब तक 34 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, उत्तर-पूर्वी दिल्ली के करावल नगर इलाके में रहने वाले इंटेलीजेंस ब्यूरो (आईबी) के सुरक्षा सहायक 26 वर्षीय जांबाज अंकित शर्मा भी दंगाइयों के शिकार हो गए।

रिपोर्ट के मुताबिक, अंकित शर्मा की मौत के पीछे आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन की भूमिका संदिग्ध बताई जा रही है। ताहिर के छत पर से बहुत मात्रा में पेट्रोल बम और पत्थर पाया गया है। इससे ये अंदाजा लगाया जा रहा है कि कहीं न कहीं इस दंगे के पीछे कई दिनों से प्लानिंग चल रही थी। ऐसे में ये भी कहा जा रहा है कि आईबी के स्टाफर अंकित की हत्या भी ताहिर और उनके समर्थकों ने कराया होगा।

ये भी पढ़ें—गजवा-ए-हिन्द को ट्रम्प रोकेंगे ?

अब पुलिस ताहिर हुसैन के आवास में पहुंचकर छानबीन की

मिली जानकारी के मुताबिक अंकित की मां ने बताया कि ताहिर हुसैन के समर्थक हमारे घर में घुसकर अंकित समेत चार लोगों को ले गए जिनमें तीन लोगों की मौत हो गई है और एक व्यक्ति की अभी कोई जानकारी नहीं मिल सकी है। अब पुलिस ताहिर हुसैन के आवास में पहुंचकर छानबीन की है। एसएचओ पुलिस टीम के साथ ताहिर हुसैन के आवास पर पहुंचे।

क्या कहना है ताहिर हुसैन का?

पार्षद ताहिर हुसैन पुलिस से बचते फिर रहे हैं और अपने किसी रिश्तेदार के घर से ताहिर ने वीडियो जारी कर खुद पर लगे सभी आरोपों को गलत बताया है। तो आइए आपको बताते हैं कि आखिर कौन हैं ताहिर हुसैन जिस पर अंकित के परिजन ये आरोप लगा रहे हैं कि दंगाइयों ने पत्थरबाजी करते हुए अंकित व उनके साथ तीन अन्य लोगों को भी भीड़ में खींच लिया। परिजनों के मुताबिक, कथित रूप से स्थानीय आप पार्षद ताहिर की बिल्डिंग में ले जाकर उनकी पीट-पीटकर हत्या कर दी गई।

ये भी पढ़ें—दुनिया के नौवें और एशिया के सबसे अमीर भारतीय बने मुकेश अंबानी

newstrack

ताहिर ने कहा है कि पुलिसवालों की निगरानी एक दिन रही उसके बाद पुलिस चली गई। मैं एक सच्चा, अच्छा भारतीय मुसलमान हूं, मैं आगे भी हिंदू-मुसलमान भाईचारे के लिए काम करता रहूंगा। मैं खुद जान बचाकर परिवार के साथ एक रिश्तेदार के पास हूं। मैं बच्चे की सौगंध खाकर कहता हूं कि इन सबसे मेरा कोई लेना-देना नहीं हैं। मैं इस तरह की घटिया राजनीति नहीं कर सकता।

आखिर कौन हैं ताहिर हुसैन?

आप पार्षद ताहिर राजनीति में भले ही जाना माना नाम नहीं हैं लेकिन पूर्वोत्तर दिल्ली में शाहदरा, नेहरू नगर, चांदबाग के इलाके में उनका बहुत रसूख है। मुसलमानों के बीच इनकी अच्छी पैठ है। वह करावल नगर के नेहरू विहार में रहते हैं। चुनावी हलफनामे के अनुसार वह व्यवसायी हैं और 18 करोड़ की घोषित संपत्ति है। उनके खिलाफ कोई आपराधिक मामला दर्ज नहीं है। ताहिर ने आठवीं पास हैं और नेशनल ओपन स्कूल से दसवीं की पढ़ाई कर रहे हैं। हालांकि यह जानकारी उन्होंने 2017 में दी थी तो उसके अनुसार उनकी पढ़ाई पूरी हो गई होगी।

हिंसाग्रस्त इलाकों में वह सेना को तैनात करे: संजय सिंह

आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह और गोपाल राय ने बुधवार को केंद्र सरकार से गुहार लगाई कि हालात को काबू में करने के लिए उत्तर-पूर्वी दिल्ली के हिंसाग्रस्त इलाकों में वह सेना को तैनात करे। उन्होंने पूछा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के अनुरोधों के बावजूद सीमावर्ती इलाकों को सील क्यों नहीं किया गया।

संजय सिंह ने दावा किया कि हालात को काबू में करने के लिए आप सरकार हर संभव प्रयास कर रही है, साथ ही कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह महज ‘औपचारिकता’ के लिए बैठकें नहीं कर सकते। सिंह ने कहा कि गृह मंत्री जाग जाईए, आप महज औपचारिकता के लिए बैठकें बुला रहे हैं, और आपकी पार्टी के सदस्य क्या कर रहे हैं। वे हिंसा भड़का रहे हैं। महज औपचारिकता के लिए बैठकें करने से समाधान निकलने वाला नहीं है।

आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता वैभव माहेश्वरी ने न्यूजट्रैक के आफिस में फोन कर बताया कि पार्षद ताहिर हुसैन के खिलाफ कोई एफआईआर दर्ज नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि ता​हिर हुसैन ने फेसबुक पर अपनी सफाई भी दी है। न्यूजट्रैक ने आप प्रवक्ता के कहले पर ताहिर हुसैन द्वारा फेसबुक पर जारी किए गए वीडियो को भी संलग्न किया है।


इसके साथ ही आप प्रवक्ता ने कहा कि अमन चैन कायम करना सभी की जिम्मेदारी है। हिंसा फैलाने के पीछे जो भी मास्टरमाइंड है उसे सख्त से सख्त सजा मिलनी चाहिए।