नहीं खुलेंगे स्कूल: सरकार ने कही ये बड़ी बात, पढ़ें पूरी खबर

दिल्ली में लगातार बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों के बीच सरकार ने तय किया है कि जब तक वैक्सीन नहीं आ जाती, तब तक स्कूल नहीं खुलेंगे। 

school closed

नहीं खुलेंगे स्कूल: सरकार ने कही ये बड़ी बात, पढ़ें पूरी खबर (फोटो- सोशल मीडिया)

नई दिल्ली: देश के कई राज्यों में एक बार फिर से कोरोना वायरस संक्रमण (Corona Virus) तेजी से फैल रहा है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में भी लोग एक बार फिर कोरोना के कहर का सामना कर रहे हैं। बढ़ते कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या ने सरकार की भी परेशानी बढ़ाकर रख दी है। ऐसे में महामारी के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने स्कूल ना खोलने का फैसला किया है।

जब तक वैक्सीन नहीं, तब तक स्कूल नहीं

बता दें कि दिल्ली में स्कूल खोलने को लेकर अभी भी सवाल बने हुए थे, ऐसे में दिल्ली सरकार की तरफ से स्पष्ट कर दिया गया है कि जब तक वैक्सीन नहीं आ जाती, तब तक स्कूल नहीं खुलेंगे। एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने कहा कि जब तक वैक्सीन नहीं तब तक स्कूल नहीं।

यह भी पढ़ें: अब और सख्त नियम: बिना मास्क वाले हो जाएँ सावधान, नजर आए तो होगा ये

उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कही ये बात

मनीष सिसोदिया ने कहा कि इस समय स्कूल शुरू करने का मतलब है कि बहुत सारे बच्चों को कोरोना की ओर ले जाने जैसा होगा, जो कि कोई भी नहीं चाहेगा। उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार से हमें सहयोग मिला है और हमने सहयोग किया भी है। इस वक्त हम आपस में लड़ने से कोरोना से नहीं लड़ सकते। सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली में अभी स्कूल खुलने लायक परिस्थितियां नहीं है।

manish sisodia
(फोटो- सोशल मीडिया)

पराली के चलते भी आया मामलों में उछाल

वहीं कोरोना के बढ़ते मामलों पर सिसोदिया ने कहा कि पराली की वजह से भी कोरोना के मामलों में उछाल आया है। हमें टीम की तरह पराली जैसी समस्याओं से निपटना होगा। वहीं दूसरी ओर कोरोना पर आज प्रधानमंत्री मोदी के साथ राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक हुई, जिसमें दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमें एक टीम बनकर कोरोना से लड़ना चाहिए। हमनें केंद्र सरकार से सहयोग मांगा है कि एक हजार ICU बेड और मिल जाएं।

यह भी पढ़ें: दिल्ली में मचा हाहाकार: कोरोना से बढ़ रहा मौतों का आंकड़ा, 23 दिनों में हुईं इतनी मौतें

दिल्ली में बिगड़ती जा रही कोरोना की स्थिति

बता दें कि दिल्ली में लगातार कोरोना के केसेस बढ़ते जा रहे हैं। राजधानी में महामारी के चलते होने वाले वाली मौतों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। बता दें कि नवंबर के 23 दिन में 2001 लोगों की कोरोना वायरस के चलते मौतें हुई हैं। जो कि दिल्ली में एक महीने में होने वाली अब तक सबसे ज्यादा मौतों का आंकड़ा है। बीते पांच महीनों से किसी भी महीने में इससे ज्यादा मौतें नहीं हुई हैं।

यह भी पढ़ें: रांची का ऐसा रहीस: BMW कार से कर रहा कचरा सफाई, इसलिए उठाया क़दम

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App