टिड्डी दल का आतंक: DM ने दिये सख्त निर्देश, ऐसे निपटेंगे इस आपदा से

23 मई को पहला टिड्डी दल तथा दूसरा दल 24 मई को जनपद में आया, जो आगे चला गया। परंतु जो टिड्डी दल के आने की संभावना है वह अपेक्षाकृत अधिक बड़ा है।

Published by Rahul Joy Published: May 26, 2020 | 6:09 pm
Modified: May 26, 2020 | 6:13 pm

 झाँसी: ग्रामीण क्षेत्र में किसान व आमजन टिड्डी दल के पहुंचने की तत्काल जानकारी आपदा कंट्रोल रूम नम्बर 0510-2371100, 2371101 पर दें सकते है। किसान किसी भी दशा में टिड्डी दल को अपने खेत में ना आने दे, उन्हें तेज आवाज के माध्यम से भगाया जाना सुनिश्चित करें। रिजर्व वाटर बॉडीज पर विशेष सतर्कता बनाए रखें। क्षेत्र में तेज आवाज के साउंड सिस्टम की व्यवस्था अवश्य करें। निगरानी समितियां व बीट कांस्टेबल शाम 7:00 बजे तक टिड्डी दल के मूवमेंट की जानकारी अवश्य दें ताकि वह विश्राम करने बैठे तो उन्हें रसायन दवा के छिड़काव से मारा जा सके।

यह निर्देश जिलाधिकारी आन्द्रा वामसी ने विकास भवन सभागार में जनपद में विचरण कर रहे प्रवासी टिड्डी दल को खत्म व उनकी रोकथाम हेतु पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से उपस्थित अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि यह आपदा है और हम सभी को सतर्क रहने की जरूरत है।

ईरान, पाकिस्तान, राजस्थान, मध्य प्रदेश से होकर आया यूपी में

जिलाधिकारी आन्द्रा वामसी ने पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से जनपद में प्रवासी टिड्डी दल के विचरण की जानकारी देते हुए कहा कि टिड्डी दल ईरान, पाकिस्तान, राजस्थान, मध्य प्रदेश से उत्तर प्रदेश आया है। दल का मूवमेंट हवा पर आधारित हैं। ठंडी हवाओं में ज्यादा यह दल रहता है। दल की संख्या 60 लाख से एक करोड़ के मध्य है। यह शाकाहारी है और यदि यह पेड़ व खेत में बैठ जाती है तो पेड़ व खेत नष्ट हो जाते हैं ।

उन्होंने बताया कि तेज आवाज से यह भाग जाते है। नदी किनारे लगी फसल व हरियाली वाले स्थानों में तेज ध्वनि विस्तारक यंत्र की व्यवस्था कर ले ताकि उन्हें तेज आवाज के माध्यम से भगाने में आसानी हो। उन्होंने किसानों से भी अपनी सब्जी के खेत व मूंग की फसल को नुकसान से बचाने के लिए तेज ध्वनि करने की सलाह दी।

बीट कांस्टेबल टिड्डी दल के मूवेंट की दे जानकारी

जिलाधिकारी ने बताया कि 23 मई को पहला टिड्डी दल तथा दूसरा दल 24 मई को जनपद में आया, जो आगे चला गया। परंतु जो टिड्डी दल के आने की संभावना है वह अपेक्षाकृत अधिक बड़ा है। शाम तक झाँसी पहुंचने की संभावना है। उन्होंने क्षेत्र की समस्त निगरानी समितियों, ग्राम प्रधान व बीट कांस्टेबल को निर्देश देते हुए कहा कि क्षेत्र में टिड्डी दल के भ्रमण की तत्काल जानकारी दें ताकि वह शाम को विश्राम करें तो उन्हें रसायन दवा छिड़क कर मारा जा सके। उन्होंने बताया कि भारत सरकार की 7 टीम लगातार मध्य प्रदेश व उत्तर प्रदेश मे भ्रमण कर रही है। इसके अतिरिक्त जनपद की कृषि विभाग की टीम भी क्षेत्र में सतत् दृष्टि बनाते हुए टिड्डी दल पर कार्रवाई करने को तैयार है।

यह भी देखें:आज नहीं मिली कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष को जमानत, अगली सुनवाई 28 मई को

आर्मी क्षेत्र में भी बरती जाए सतर्कता

उन्होंने पावर पॉइंट प्रेजटेशन में उपस्थित लेफ्टी कर्नल को आर्मी क्षेत्र में सतर्कता बनाए रखते हुए टिड्डी दल के मूवमेंट की जानकारी देने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि सेना द्वारा वाहन उपलब्ध कराए जाते हैं तो वाहनो के माध्यम से तत्काल रसायन दवाओं का छिड़काव करते हुए उन्हें मारा जा सकता है। इस मौके पर सीडीओ निखिल टीकाराम फुंडे, एडीएम राम अक्षरवर चौहान, एसपी सिटी राहुल श्रीवास्तव, एसपी ग्रामीण राहुल मिठास, डीडी कृषि कमल कटियार, एसडीएम संजीव कुमार मौर्य, लेफ्टिनेंट कर्नल शशि, पीपीओ विवेक कुमार सहित समस्त उपजिलाधिकारी, खंड विकास अधिकारी व विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

रिपोर्टर- बी.के. कुशवाहा , झाँसी

यह भी देखें:तेज बारिश का अलर्ट: यहां मौसम बदलेगा करवट, जानिए अपने राज्य का हाल

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App