ताजमहल देखने जा रहे ट्रंप को ये खास तोहफे देगा आगरा, रखेंगे जीवन भर याद

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत दौरे पर आ रहे हैं। इस दौरान वह ताजमहल देखने भी जाएंगे। ताजमहल देखने पहुंचे ट्रंप को आगरा में कई शानदार तोहफे दिए जाएंगे। ये तोहफे उन्हें भारतीय कला और संस्कृति की याद दिलाते रहेंगे।

नई दिल्ली: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत दौरे पर आ रहे हैं। इस दौरान वह ताजमहल देखने भी जाएंगे। ताजमहल देखने पहुंचे ट्रंप को आगरा में कई शानदार तोहफे दिए जाएंगे। ये तोहफे उन्हें भारतीय कला और संस्कृति की याद दिलाते रहेंगे।

राष्ट्रपति के तौर पर डोनाल्ड ट्रंपर पहली बार भारत आ रहे हैं। ट्रंप को खूबसूरत संगमरमर से बना ताजमहल का मॉडल, चांदी की चाबी, संगमरमर से बनी टेबल लैंप और जरदोजी से तैयार मोर की कृति दी जाएगी।

आगरा के मेयर नवीन जैन ने जानकारी देते हुए बताया कि हम 24 फरवरी को डोनाल्ड ट्रंप को चांदी की 600 ग्राम की एक चाबी देंगे। यह चाबी इस बात का संदेश देती है कि आगरा में हमेश उनका स्वागत है और वे कभी भी दरवाजे खोलकर आगरा में प्रवेश कर सकते हैं। आगरा की तैयारी इस प्रकार है कि ‘तोहफा-ए-ताज’ को मेहमान ट्रंप जिंदगी भर याद रखें।

यह भी पढ़ें…अभी-अभी उड़ाई पाकिस्तान की 6 चौकियां, सेना ने ढेर किए कई पाक सैनिक

आपको बता दें कि डोनाल्ड ट्रंप 24 फरवरी को ताजमहल का दीदार करने आ रहे हैं। उनके साथ उनकी पत्‍नी मिलानिया भी होंगी। 24 फरवरी को डोनाल्ड ट्रंप और उनकी पत्नी लगभग साढ़े चार बजे आगरा पहुंचेंगे। वह 2.15 घंटे शहर में रहेंगे। इस अवधि में वह एक घंटे ताजमहल का दीदार करेंगे। यहां यादगार के तौर अमेरिकी फर्स्ट कपल को उपहार भी भेंट किए जाएंगे। इसके लिए पहले से ही तैयारी हो चुकी है।

यह भी पढ़ें…शाहीन बाग: नहीं बनी बात, प्रदर्शनकारियों की ऐसी मांगे सुनकर चौंक जायेंगे आप

गौरतलब है कि मंगलवार को सीएम योगी आदित्यनाथ राष्ट्रपति ट्रंप के आगमन की तैयारियों की समीक्षा करने आगरा पहुंचे थे। तब सर्किट हाउस में अधिकारियों ने उनके समक्ष कुछ उपहार प्रस्तुत किए थे। इनमें संगमरमर से बना ताज का मॉडल, संगमरमर से बनी टेबल लैंप और जरदोजी कला से तैयार मोर का चित्र शामिल था।

यह भी पढ़ें…फट जाएगा कलेजा, तिहाड़ जेल ने निर्भया के दोषियों के परिवारवालों से पूछा ऐसा सवाल

एक रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि सीएम ने उपहारों पर सहमति जता दी थी। हालांकि, अंतिम निर्णय अमेरिकी सुरक्षा एजेंसी की हरी झंडी मिलने के बाद ही लिया जाएगा। राज्यपाल आनंदी बेन पटेल भी डॉनल्ड ट्रंप की पत्‍नी मिलानिया को शॉल भेंट कर सकती हैं।