अभी-अभी उड़ाई पाकिस्तान की 6 चौकियां, सेना ने ढेर किए कई पाक सैनिक

जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। पाकिस्तान की तरफ से सीमा पर लगातार गोलीबारी की जा रही है। अब भारतीय सेना ने पाकिस्तानी गोलाबारी का मुहतोड़ जवाब दिया है।

कश्मीर: जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। पाकिस्तान की तरफ से सीमा पर लगातार गोलीबारी की जा रही है। अब भारतीय सेना ने पाकिस्तानी गोलाबारी का मुहतोड़ जवाब दिया है। सेना ने पलटवार करते हुए जवाबी कार्रवाई में 6 पाकिस्तानी सैनिकों को मौत के घाट के उतार दिया है, तो 14 घायल हो गए हैं।

इसके साथ ही भारत की जवाबी कार्रवाई में पीओके की नीलम वैली में पाकिस्तान की छह चौकियों के तबाह होने के साथ भारी नुकसान हुआ है। यह जानकारी सूत्रों ने दी है।

पाकिस्तान ने आधिकरिक तौर पर एक जवान के मरने और 10 के घायल होने की पुष्टि की है। सेना के सूत्रों का दावा है कि माछिल सेक्टर के दूसरी तरफ लीपा और नीलम घाटी में पाकिस्तान को भारी नुकसान हुआ है। इतना ही नहीं पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में अथमुकाम स्थित उसके ब्रिगेड व SSG मुख्यालय को सेना ने नुकसान पहुंचाया है।

यह भी पढ़ें…नाचेंगे ट्रंप-नचाएंगे कैलाश खेर! अगर हुआ ऐसा तो झूम उठेगा इंडिया

सेना ने गुरुवार देर रात यह कार्रवाई तब की जब पाकिसातनी सेना गोलाबारी की आड़ में हथियारों से लैस आतंकियों को घुसपैठ कराने की कोशिश में लगे थे। पहले पाक सेना ने पीओके के अपने नीलम व लीपा घाटी में स्थित अपने ठिकानों से टंगधर और केरन सेक्टर में भारतीय ठिकानों को निशाना बनाते हुए गोलाबारी की।

यह भी पढ़ें…हादसे से महाराष्ट्र में मचा हड़कंप: महिलाओं की दर्दनाक मौत, कई घायल

इस बीच एलओसी पर एक जगह नाके पर बैठे जवानों ने ऑटोमैटिक हथियारों से लैस आतंकियों के एक दल को घुसपैठ का प्रयास करते देखा गया था। सेना के जवानों ने घुसपैठियों को ललकारा और उन पर हमला बोल दिया। इस पर घुसपैठिए अपनी जान बचाते हुए वापस भाग गए। आतंकियों की घुसपैठ नाकाम होने से हताश पाकिस्तानी सैनिकों ने दोबारा भारतीय सेना के ठिकानों पर गोलाबारी शुरु कर दी। भारतीय जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई की।

यह भी पढ़ें…ट्रंप दिनभर करते हैं ये काम: जानेंगे तो उड़ जाएंगे आपके होश

इससे पहले भी सीमा पार से इसी इलाके पर गोले दागे गए थे। देर शाम गांव कस्बा में एक मकान में आग लग गई और वह राख हो गया। जबकि गांव डोकरी में छह मकान क्षतिग्रस्त हो गए। गोलाबारी में कोई ग्रामीण घायल नहीं हुआ।