×

शवों को घसीटने का वीडियो वायरल, गर्वनर ने पूछे सवाल, मुख्य सचिव ने दिया ये जवाब

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता के गारिया शवदाह गृह से एक दिल दहला देने वाला वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो वायरल के बवाल मच गया है। इस वायरल में दिख रहा है कि कुछ सड़े-गले शवों को एक गाड़ी में हुक से खीचकर डाला जा रहा था।

Dharmendra kumar
Updated on: 12 Jun 2020 3:37 PM GMT
शवों को घसीटने का वीडियो वायरल, गर्वनर ने पूछे सवाल, मुख्य सचिव ने दिया ये जवाब
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता के गारिया शवदाह गृह से एक दिल दहला देने वाला वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो वायरल के बवाल मच गया है। इस वायरल में दिख रहा है कि कुछ सड़े-गले शवों को एक गाड़ी में हुक से खीचकर डाला जा रहा था। अब इन तस्वीरों पर बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने कहा कि वीडियो में शवों को घसीटने की हृदय विदारक घटना पर लोगों की चिंता को शेयर कर रहा हूं। हालात पर हतप्रभ हूं।

राज्यपाल के ट्वीट के बाद बंगाल के आला अधिकारी हरकत में आ गए। राज्यपाल को बयान पर मुख्य सचिव ने जवाब दिया। उन्होंने कहा कि शव कोरोना पीड़ितों के नहीं थे, तो कोलकाता पुलिस का भी कहना है कि शव कोरोना पीड़ितों के नहीं थे, कानूनी कार्रवाई कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें...कांग्रेस के दिग्गजों का जमावड़ा: होने जा रही अहम बैठक, CM का इंतज़ार

बीजेपी का हमला

तो वहीं बीजेपी ने बंगाल की ममता सरकार पर हमला बोला है। बीजेपी ने कहा कि ये अमानवीयता की हद है। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल ने बताया है कि यह घटना 10 तारीख को मेरी जानकारी में आई। मैं सोच नहीं सकता था कि भारत जैसे देश में शवों के साथ ऐसा कृत्य किया जा सकता है। पर जब दोनों वीडियो मेरे सामने आए तो मेरी आंखों के आंसू समाप्त हो गए। राज्यपाल ने कहा कि गाड़ियां कोलकाता नगर निगम की थीं।

यह भी पढ़ें...इस एक्ट्रेस की मां को हुआ कोरोना, अस्पताल में नहीं हो पा रहा इलाज

उन्होंने कहा कि जिन शवों को गरिया शवदाह गृह लाया गया था, वो कब अस्पताल मे भर्ती कराए गए थे और उनका कब तक इलाज चला इन सबकी जानकारी दी जाए। उन्होंने गुस्से में लिखा किसी इंसानी शव को ऐसे कैसे घसीटा जा सकता है? इससे ऐसा असंवेदनशील व्यवहार कैसे हो सकता है? यह मानवता को शर्मसार करने वाला है।

यह भी पढ़ें...दिखा मौलाना साद: इस मस्जिद में आया नजर, पुलिस के उड़े होश

सख्त से सख्त कार्रवाई होगी

इस मामले की गंभीरता को देखते हुए कोलकाता पुलिस भी एक्शन में आ गई। कोलकाता पुलिस का कहना है कि बिना सही जानकारी के झूठ फैलाने वालों पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। कोलकाता पुलिस ने ट्वीट कर जानकारी दी कि पश्चिम बंगाल स्वास्थ्य विभाग की तरफ से जानकारी दी गई है कि वीडियो में दिखाई देने वाले शव कोरोना मरीजों के नहीं थे बल्कि अस्पताल के शवगृह में पड़े लावारिस शव पड़े थे। झूठी खबरे फैलाने वालों पर सख्त से सख्त कार्रवाई होगी।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story