जम्मू कश्मीर में एनआईए ने की ताबड़तोड़ छापेमारी, जानें पूरा मामला

एनआईए की यह कार्रवाई आतंकियों संग पकड़े गए डीएसपी दविंदर सिंह(निलंबित) मामले में की गई है। दविंदर सिंह और सभी आतंकी इन दिनों रिमांड पर हैं। मामले की जांच एनआईए कर रही है।

नई दिल्ली: राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण(एनआईए) ने जम्मू कश्मीर में शोपियां के कई इलाकों में छापेमारी की है।  एनआईए की यह कार्रवाई आतंकियों संग पकड़े गए डीएसपी दविंदर सिंह(निलंबित) मामले में की गई है। दविंदर सिंह और सभी आतंकी इन दिनों रिमांड पर हैं। मामले की जांच एनआईए कर रही है।

इससे पहले 23 जनवरी को निलंबित डीएसपी दविंदर सिंह मामाले में आरोपियों को राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) कोर्ट में पेश किया गया। इस दौरान निलंबित डीएसपी दविंदर सिंह सहित कुल चार आरोपी न्यायालय के समक्ष ले जाया गया।

न्यायालय ने निलंबित डीएसपी दविंदर सिंह, अन्य तीन आरोपियों को 15 दिन की रिमांड पर भेजा है। वहीं आतंकियों के मददगार जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीएसपी दविंदर सिंह की निशानदेही पर एनआईए की दो टीमों ने श्रीनगर के इंदिरा नगर, नौगाम व अन्य जगहों पर छापा मारा था।

ये भी पढ़ें…कश्मीर: सेना और आतंकियों में भीषण मुठभेड़, जैश कमांडर समेत 3 आतंकी ढेर

कई अहम दस्तावेज जब्त

इस कार्रवाई के दौरान कुछ अहम दस्तावेज और अन्य सामग्री बरामद हुई। इसमें एक स्थानीय डॉक्टर का घर भी शामिल है। इस कार्रवाई के दौरान कुछ अहम दस्तावेज और अन्य सामग्री बरामद हुई हैं। उधर, इस मामले में एक अन्य व्यक्ति इरफना मुश्ताक को गिरफ्तार किया गया। यह डीएसपी के साथ गिरफ्तार किए गए एक आतंकी का परिजन था।

एनआईए की टीम ने जिस डॉक्टर के घर पर दबिश दी है उसके बारे में बताया जाता है कि दविंदर ने आतंकी नवीद बाबू को कुछ दिनों के लिए वहां पनाह मुहैया कराई थी। छापेमारी के बाद एनआईए के आला अधिकारियों की एक टीम दिल्ली के लिए रवाना हो गई।

जबकि पांच सदस्यीय टीम दूसरी टीम इस मामले में नए खुलासों के बाद जांच के लिए यहीं रुक गई है। बता दें कि डीएसपी की गिरफ्तारी के बाद जांच एजेसियों को उसके इंदिरा नगर स्थित घर से 10 लाख रुपये कैश, एक एके 47 राइफल और दो पिस्टल बरामद की गई थी।

ये भी पढ़ें…बारामुलाः बांदीपुरा का साजिद फारूक हाल ही में बना था आतंकी, CRPF ने किया गिरफ्तार