जामिया फायरिंग का मामला, इलाके में बढ़ाई गई सुरक्षा, केस क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर

दिल्ली के जामिया इलाके में फायरिंग के बाद प्रदर्शन तेज हो गया है। प्रदर्शनकारियों ने बैरिकेड तोड़ने की कोशिश की है। इलाके में भारी संख्या में पुलिस बल की…

Published by Deepak Raj Published: January 30, 2020 | 8:32 pm
Modified: January 30, 2020 | 8:38 pm

नई दिल्ली। दिल्ली के जामिया इलाके में फायरिंग के बाद प्रदर्शन तेज हो गया है। प्रदर्शनकारियों ने बैरिकेड तोड़ने की कोशिश की है। इलाके में भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है। पुलिस प्रदर्शनकारियों को हटाने में जुटी है।

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (NRC) के विरोध में गुरुवार को दिल्ली की जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी से राजघाट तक मार्च के दौरान एक नाबालिग ने फायरिंग की। जामिया इलाके के पास चली गोली में एक छात्र घायल हो गया। हमलावर नाबालिग बताया जा रहा है।

ये भी पढ़ें-योगी सरकार का फरमान, प्रदर्शन से बच्चों को नहीं हटाया तो परिजनों पर होगी कार्यवाही

नागरिकता संशोधन कानून की खिलाफत कर रहे थें

आज (30 जनवरी) महात्मा गांधी का शहीदी दिवस है। बीते 15 दिसंबर से जामिया विश्वविद्यालय के गेट नंबर 7 के बाहर प्रदर्शन कर रहे छात्र 30 जनवरी को राजघाट तक एक मार्च निकालना चाहते थे। नागरिकता संशोधन कानून की खिलाफत कर रहे इन छात्रों ने राजघाट तक सामूहिक पैदल यात्रा निकालने का ऐलान किया था।

हालांकि पहले गोली चलने की घटना और फिर पुलिस के चाक-चौबंद बंदोबस्त के चलते जामिया के प्रदर्शनकारी छात्र राजघाट या उसके आसपास तक भी नहीं पहुंच सके।

ये भी पढ़ें-ममता सरकार पर राज्यपाल ने किया हमला, कह दी ये बड़ी बात

अर्ध सैनिक बल तैनात किए गए हैं

यमुना पर बने सबसे पुराने पुल में से एक लोहा पुल के एक हिस्से को पुलिस ने गुरुवार दोपहर के बाद बंद कर दिया। लोहा पुल का यह हिस्सा रिंग रोड की ओर शांतिवन और फिर वहां से महात्मा गांधी की समाधि राजघाट तक पहुंचने का एक अहम मार्ग है।

पूर्वी दिल्ली के ही गीता कॉलोनी से राजघाट की ओर जाने वाले वाले यमुना पुल को भी पुलिस ने बैरिकेड लगाकर पैदल यात्रियों और वाहनों दोनों के लिए पूरी तरह से बंद रखा। गीता कॉलोनी से राजघाट जाने वाले फ्लाईओवर पर बकायदा अर्ध सैनिक बल तैनात किए गए थे।

 

गोलीबारी की इस घटना के बाद दिल्ली पुलिस ने आनन-फानन में मध्य दिल्ली स्थित जामा मस्जिद पर अतिरिक्त पुलिस बल बढ़ा दिया क्योंकि इस मार्च को जामा मस्जिद पर ही पहुंचना था। जामा मस्जिद से इकट्ठे होकर भीड़ को राजघाट की ओर बढ़ना था। हालांकि पुलिस ने मार्च को राजघाट की ओर जाने की अनुमति देने से साफ इनकार कर दिया था।

ये भी पढ़ें- ममता सरकार पर राज्यपाल ने किया हमला, कह दी ये बड़ी बात

प्रदर्शनकारियों ने बैरिकेड तोड़ने की कोशिश की है। इलाके में भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है। पुलिस प्रदर्शनकारियों को हटाने में जुटी है।

 

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (NRC) के विरोध में गुरुवार को दिल्ली की जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी से राजघाट तक मार्च के दौरान एक नाबालिग ने फायरिंग की। जामिया इलाके के पास चली गोली में एक छात्र घायल हो गया। हमलावर नाबालिग बताया जा रहा है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App