किसान आन्दोलन पर केंद्र और विपक्ष में छिड़ी जुबानी जंग, यहां पढ़ें किसने क्या कहा?

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि मेरा किसानों से आग्रह कि आंदोलन खत्म करें। कानून रद्द करने की मांग गलत है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि राजनीतिक दल किसानों के कंधे पर बंदूक रखकर चला रही है।

Published by Aditya Mishra Published: December 8, 2020 | 2:14 pm
Rahul and Ravi Shankar Prasad

किसान आन्दोलन पर केंद्र और विपक्ष में छिड़ी जुबानी जंग, यहां पढ़ें किसने क्या कहा? (फोटो: सोशल मीडिया)

नई दिल्ली: कृषि कानून के खिलाफ किसान संगठनों ने आज भारत बंद का आह्वान किया है। आज 13वे दिन भी किसानों का आन्दोलन जारी है। 11 राजनीतिक दलों के किसानों का समर्थन किया है।

किसानों के समर्थन में देश के अलग-अलग राज्यों में कई पार्टियों के कार्यकर्ता आज सड़कों पर उतरे हैं। वे केंद्र सरकार के खिलाफ अपना गुस्सा जाहिर कर रहे हैं। कृषि कानूनों को लेकर विपक्ष लगातार केंद्र सरकार पर हमला बोल रहा है।

केंद्र सरकार के मंत्रियों ने मोर्चा संभाल लिया है। केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से लेकर रवि शंकर प्रसाद आज विपक्ष पर जोरदार हमला बोल रहे हैं। तो आइये जानते हैं किसान आन्दोलन पर विपक्ष से लेकर केंद्र सरकार के मंत्रियों की तरफ से आज क्या कुछ कहा गया है?

farmer
किसान आन्दोलन (फोटो: सोशल मीडिया)

किसान आन्दोलन: केंद्र सरकार के बचाव में उतरे रविशंकर प्रसाद, विपक्ष पर बोला हमला

मंडी और एमएसपी दोनों जारी रहेगा: रविशंकर प्रसाद

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि मेरा किसानों से आग्रह कि आंदोलन खत्म करें। कानून रद्द करने की मांग गलत है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि राजनीतिक दल किसानों के कंधे पर बंदूक रखकर चला रही है। उन्होंने साफ कर दिया मंडी और एमएसपी दोनों जारी रहेगा।

राहुल और प्रियंका ने कांग्रेसियों से की किसानों का साथ देने की अपील

कांग्रेस नेता राहुल गांधी, महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और पार्टी के कई अन्य वरिष्ठ नेताओं ने केंद्रीय कृषि कानूनों के विरोध में किसान संगठनों द्वारा आहूत ‘भारत बंद’ के बीच मंगलवार को लोगों का आह्वान किया कि वे किसानों का साथ दें और उनके संघर्ष को सफल बनाएं।

जंतर-मंतर पर धरना दे रहे कांग्रेस सांसदों ने केंद्र सरकार से की ये बड़ी मांग

भाजपा सरकार अपने अरबपति मित्रों की थैली भर रही है: प्रियंका गांधी

कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने प्रदर्शनकारी किसानों का समर्थन किया और आरोप लगाते हुए कहा-‘जो किसान अपनी मेहनत से फसल उगाकर हमारी थालियों को भरता है, उन किसानों को भाजपा सरकार अपने अरबपति मित्रों की थैली भरने के दबाव में भटका हुआ बोल रही है।

उन्होंने कहा, ‘ये संघर्ष आपकी थाली भरने वालों और अरबपतियों की थैली भरने वालों के बीच है।आइए, किसानों का साथ दें।

मोदी सरकार से लड़ना होगा: रणदीप सुरजेवाला

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया, ‘उठो साथी, अगली फसल और अगली नस्ल के लिए लड़ना होगा। उस मोदी सरकार से लड़ना होगा जिसने उद्योगपतियों के हित साधने के लिए ज़मीर बेच कर ज़मीन पर हमला बोला है।

आइये, देश के लिए और देश के भविष्य के लिए अन्नदाता के साथ भारत बंद में शामिल हों.’ पार्टी के कई अन्य वरिष्ठ नेताओं ने भी किसान संगठनों के ‘भारत बंद’ का समर्थन किया और लोगों से किसानों का साथ देने की अपील की।

प्रकाश जावड़ेकर ने विपक्ष के समर्थन को पाखंड करार दिया

भारत बंद के समर्थन में आए विपक्षी दलों पर केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने आज जमकर हमला बोला है। उन्होंने आरोप लगाया है कि कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में इन कानूनों के शुरुआत करने की बात कही थी।

एक इंटरव्यू में प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, ‘किसानों ने लागत के अतिरिक्त लाभ की मांग की थी और हम उन्हें पहले ही लागत से 50 फीसदी अधिक दे रहे हैं।

जावड़ेकर ने कहा है कि कांग्रेस ने अपने कार्यकाल में इस तरह की कोई भी पेशकश नहीं की थी। इसके अलावा उन्होंने विपक्ष के समर्थन को पाखंड भी करार दिया है।

उन्होंने कहा, ‘जो विपक्षी इन कानूनों को वापस लेने की बात कर रहे हैं वह पाखंडी हैं।क्योंकि जब वे सत्ता में थे, तो उन्होंने कान्ट्रैक्ट फॉर्मिंग कानून पास किया था।’ उन्होंने बताया कि कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में इन कानूनों का जिक्र किया था।

केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने आज एक इंटरव्यू में विपक्ष पर जोरदार हमला बोला। उन्होंने ये भी कहा कि सरकार आगे रह कर किसानों की मदद कर रही है।

Delhi CM Arvind Kejriwal
दिल्ली के सीएम अरविन्द केजरीवाल (फोटो:सोशल मीडिया)

आप ने सरकार पर लगाया सीएम केजरीवाल को नजरबंद करने का आरोप

किसान आंदोलन और भारत बंद को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को नजरबंद कर दिया है। यह आरोप आम आदमी पार्टी (आप) ने लगाया है।

आप का कहना है कि सीएम अरविंद केजरीवाल के सिंधु बॉर्डर से लौटने के बाद कल से नजरबंद जैसे हालात बनाए गए हैं।सीएम अरविंद केजरीवाल की सभी बैठक रद्द कर दी गई है।

आप विधायक सौरभ भारद्वाज ने कहा कि जब से मुख्यमंत्री सिंधु बॉर्डर पर किसानों से मिलकर और किसानों को समर्थन देकर आए हैं, केंद्र सरकार के गृह मंत्रालय के इशारे पर दिल्ली पुलिस ने मुख्यमंत्री को अपने ही घर में बैरिकेड लगाकर लगभग नज़रबंद किया हुआ है।उनसे न कोई मिल सकता है, न वो बाहर आ सकते हैं।हम सीएम हाऊस तक मार्च निकालेंगे।

दिल्ली पुलिस ने दी सफाई

आम आदमी पार्टी के आरोपों पर दिल्ली पुलिस के नॉर्थ जिले के डीसीपी का कहना है कि ये झूठ और बेबुनियाद आरोप है।वहां हमारी फोर्स तैनात है।

अरविंद केजरीवाल कल शाम 8 बजे भी कहीं निकले थे और रात 10 बजे के लगभग वापस लौटे थे।कोई समस्या नहीं है।आम आदमी पार्टी के हंगामे के बाद कुछ पार्षदों को सीएम आवास में जाने की इजाजत दी गई है।

किसानों से मिलकर बोले केजरीवाल- केंद्र ने बनाया स्टेडियम को जेल बनाने का दबाव

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें – Newstrack App

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App