खुल गया कालिंदी कुंज बॉर्डर: किसानों को मिलेगी दिल्ली में एंट्री, आंदोलन रहेगा जारी

पंजाब-गाजियाबाद और नोएडा समेत तमाम क्षेत्रों से भारी संख्या में किसान राजधानी दिल्ली पहुँच रहे हैं। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने बॉर्डर और रास्ते बंद कर दिए।

farmers-protest delhi ncr-traffic-alert kalindi kunj border reopen

खुला कालिंदी कुंज बॉर्डर (photo Social media)

नई दिल्ली: केंद्र सरकार के कृषि सम्बन्धी कानून के खिलाफ किसानों का आंदोलन जारी है। ऐसे में लगातार सरकार के तरफ से किसानों से बातचीत का प्रयास किया जा रहा है। किसान दिल्ली के सीमा पर कृषि कानूनों के विरोध में खड़े हुए हैं और प्रदर्शन की तैयारी में हैं। जिसके चलते बुधवार की सुबह दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने बॉर्डर सील कर दिया था। हालाँकि शाम होते हुए कालिंदी कुंज बॉर्डर को खोल दिया गया।

कृषि कानूनों के विरोध में किसानों का आंदोलन

दरअसल, पंजाब-गाजियाबाद और नोएडा समेत तमाम क्षेत्रों से भारी संख्या में किसान राजधानी दिल्ली पहुँच रहे हैं। अव्यवस्था की स्थिति को देखते हुए दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने सीमा से सटे जिलों और राज्यों के बॉर्डर बंद कर दिए थे। इनमे नोएडा ट्रैफिक पुलिस व् अन्य जिलों की पुलिस के साथ मिल कर कई रास्तों को बंद कर दिया गया था।

ये भी पढ़ेंः शादियों में पाबंदी: इस पर सरकार ने लिया सख्त फैसला, नहीं माना तो मिलेगी सजा

दिल्ली बोर्डर और रास्ते बंद

हालाँकि शाम होते-होते कई रास्तों को पुनः खोल दिया गया। जो मार्ग आज पूरा दिन बाधित रहे उनमें दिल्ली-नोएडा का कालिंदी कुंज बॉर्डर था, जिसे दोनों तरफ से बंद कर दिया गया। यहां से आने जाने वालों को वैकल्पिक रास्ता लेने की सलाह दी गई। हालांकि अब कालिंदी कुंज बॉर्डर ट्रैफिक के लिए खुल गया है।

farmer protest

ट्रैफिक के लिए खुले कई रास्ते

इसके अलावा सिंघु बॉर्डर समेत आज लामपुर, औचंदी और कई अन्य छोटे बॉर्डर बंद कर दिए गए थे और वैकल्पिक रास्तों का इस्तेमाल करने को कहा गया। वहीं मुकरबा चौक और जीटी करनाल रोड से ट्रैफिक डायवर्ट किया गया।

ये भी पढ़ें- किसानों की बड़ी जीत: 30 साल बाद बिका चावल, भारत चीन पर भारी

दिल्ली में फल, दूध, सब्जियों की सप्लाई बंद करने  की किसानों ने दी धमकी

सिंधु बॉर्डर पर किसानों की जल्द बड़ी बैठक होने वाली है, जिसमें आगे की रणनीति पर मंथन होगा। दूसरी ओर बेंगलुरु में सिविल कोर्ट के बाहर वकीलों ने किसानों के समर्थन में प्रदर्शन किया। वहीं दूसरी तरफ हरियाणा के जींद में खाप पंचायतों ने दिल्ली कूच शुरू कर दिया है। पंचायतों का कहना है कि अगर 3 दिसंबर को सरकार से बात नहीं बनती है, तो फिर वो दिल्ली जाने वाले फल, दूध, सब्जियों की सप्लाई बंद कर देंगे। यहां किसान नेता घर घर जाकर लोगों से दिल्ली चलने की अपील कर रहे हैं।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

 

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App