बहुते क्रांतिकारी बाप: बेटे को SDM के सामने पेश कर बोले- लड़कियों को छेड़ता है…

राजधानी जयपुर में एक पिता ने संजीदगी दिखाते हुए सोमवार को अपने मनोरोगी बेटे को प्रशासन के सामने पेश किया। पिता ने बेटे को एसडीएम के सामने पेश करते हुए कहा कि वह लड़कियों को छेड़ता है।

उदयपुर: राजधानी जयपुर में एक पिता ने संजीदगी दिखाते हुए सोमवार को अपने मनोरोगी बेटे को प्रशासन के सामने पेश किया। पिता ने बेटे को एसडीएम के सामने पेश करते हुए कहा कि वह लड़कियों को छेड़ता है। प्रशासन या तो बेटे का इलाज कराए या फिर जो भी कदम उठाए, उसके लिए वह स्वतंत्र है।

ये भी पढ़ें…सिपाही ने की किशोरी से छेड़खानी, सदमें में हुई पिता की मौत

शास्त्रीनगर केस के बाद बढ़ी पिता की चिंता

दरअसल जयपुर में पिछले दिनों चार और सात साल की दो मासूम बच्चियों से हुए रेप के आरोपी सिकंदर उर्फ जीवाणु के पकड़े जाने के बाद इस पिता की बेटे को लेकर चिंता बढ़ गई।

भट्टा बस्ती निवासी पिता ने प्रशासन को बताया कि उसका बेटा राह में आती-जाती लड़कियों और बच्चियों को छेड़ता है। कई बार लोग इसका शिकायतें भी कर चुके हैं।

उसका बेटा मनोरोगी है। कई बार उसे इलाज के लिए हॉस्पिटल भी लेकर गए, लेकिन वह हर बार वहां से भाग आता है। उसे डर है कि कहीं बेटे से मनोरोग के चलते कोई अपराध न हो जाए।

ये भी पढ़ें…छात्रा ने प्रोफेसर पर लगाया छेड़खानी का आरोप, 100 डायल पर कॉल कर किया उसे पुलिस के हवाले

प्रशासन ने बेटे को भेजा शास्त्रीनगर थाने

लिहाजा उसने बेटे को आमेर एसडीएम ओमप्रभा के सामने पेश कर गुहार लगाई कि प्रशासन बेटे का इलाज कराए या एहतियात के तौर पर जो भी कदम उचित हो, वो उठाए। उसके लिए प्रशासन स्वतंत्र है। चिंतित पिता ने प्रशासन से कहा कि कोई घटना होती है तो उसकी जिम्मेदारी नहीं होगी।

मामले की गंभीरता को देखते हुए एसडीएम ने शास्त्रीनगर पुलिस थाने को सूचित किया और मनोरोगी बेटे को वहां भिजवा दिया। अब शास्त्रीनगर पुलिस उसकी मेडिकल जांच और इलाज के इंतजाम में जुटी है।

ये भी पढ़ें…लखनऊ: SSP आवास से चंद दूरी पर युवती से छेड़खानी, मचा हडकंप