×

अभी-अभी 5 अफसरों के तबादले: दिल्ली हिंसा पर रोक लगाने के लिए सरकार का प्लान

इसी बीच दिल्ली पुलिस के पांच आईपीएस (IPS) ऑफिसर्स के तबादले किए गए हैं। इसके अलावा संयज भाटिया को DCP सेंट्रल बनाया गया है। फिलहाल संजय भाटिया DCP एयरपोर्ट हैं।

Shreya
Updated on: 26 Feb 2020 10:15 AM GMT
अभी-अभी 5 अफसरों के तबादले: दिल्ली हिंसा पर रोक लगाने के लिए सरकार का प्लान
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली एक बार फिर जल उठी हो। उत्तर पूर्वी दिल्ली में CAA को लेकर पिछले दो दिनों से हर तरफ पत्थरबाजी और आगजनी का माहौल देखने को मिल रहा है। इसी बीच दिल्ली पुलिस के पांच आईपीएस (IPS) ऑफिसर्स के तबादले किए गए हैं। इसके अलावा संयज भाटिया को DCP सेंट्रल बनाया गया है। फिलहाल संजय भाटिया DCP एयरपोर्ट हैं।

इन IPS ऑफिसर्स का हुआ तबादला

इसके अलााव MS रंधावा को एडिशनल सीपी (Addl CP) बनाया गया है। इसके साथ ही शंखधर (SD) मिश्रा एडिशनल सीपी (Addl CP) ट्रैफिक और राजीव रंजन डीसीपी (DCP) एयरपोर्ट बनाए गए हैं। इसके अलावा प्रमोद मिश्रा का (P Mishra) डीसीपी (DCP) (रोहिणी) के रुप में पोस्ट किया गया है। वहीं 1985 बैच के IPS अधिकारी एस एन श्रीवास्तव को दिल्ली पुलिस का स्पेशल कमिश्नर लॉ & आर्डर तत्काल प्रभाव से नियुक्त किया गया है।

दिल्ली हिंसा में अब तक 22 लोगों की मौत

बता दें कि दिल्ली हिंसा में अब तक 22 लोगों की मौत हो चुकी है, जिसमें दिल्ली पुलिस के हेड कॉन्सटेबल रतन लाल का नाम भी शामिल है। जबकि कई 200 से ज्यादा लोग घायल हैं। बता दें कि उपद्रवियों की वजह से IB ऑफिसर अंकित शर्मा की भी मृत्यु हो गई। अंकित आईबी में सुरक्षा सहायक के पद पर कार्यरत थे। पुलिस को बुधवार को हिंसाग्रस्त क्षेत्र चांदबाग पुलिया से एक नाले से उनका शव बरामद हुआ है।

यह भी पढ़ें: सावधान Google Chrome चलाने वालों, एक गलती में सारा डाटा हो जाएगा लीक

हिंसा पर काबू पाने के लिए 800 अधिक जवानों की होगी तैनाती

अब दिल्ली में हो रहे हिंसा पर काबू पाने के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय एक्शन में आ गया है। स्थिति पर नियंत्रण पाने और उपद्रवियों को काबू करने के लिए अब दिल्ली में और अधिक सुरक्षा बढ़ाए जाने की तैयारी है। दिल्ली में अब 800 अधिक जवानों की तैनाती की जाएगी। बता दें कि मंगलवार तक दिल्ली में 37 अर्धसैनिक बलों की कंपनियां तैनात थी, लेकिन इनकी संख्या को बढ़ाकर 45 कर दिया गया है।

सुरक्षाबलों ने संभाला मोर्चा

वहीं दिल्ली के भजनपुरा इलाके में हिंसा के बाद अब सुरक्षाबलों ने मोर्चा संभाल लिया है। यहां पर बीएसएफ (BSF) द्वारा मार्च किया जा रहा है। बता दें कि भजनपुरा इलाके में उपद्रवियों ने एक पेट्रोल पंप को आग के हवाले कर दिया था और साथ ही गाड़ियों में तोड़फोड़ भी की गई थी। अर्धसैनिक बलों के जवान पुलिस के साथ मिलकर कई इलाकों में मार्च कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: दिल्ली हिंसा पर शिवसेना प्रमुख उद्धव का बड़ा बयान, की इस घटना से तुलना

अजित डोभाल ने हिंसाग्रस्त इलाकों का किया दौरा

बता दें कि हिंसा के बाद अब राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (National Security Advisor- NSA) अजित डोभाल भी एक्शन में आ गए हैं। रात दिल्ली तनाव के बीच अजित डोभाल पुलिस के कमिश्नर अमूल्य पटनायक के साथ मंगलवार देर हालात का जायजा लेने हिंसाग्रस्त इलाकों में पहुंचे। उन्होंने गाड़ी में बैठकर सीलमपुर, भजनपुरा, मौजपुर, यमुना विहार जैसे हिंसा प्रभावित इलाकों की स्थिति का जायजा लिया। इसके बाद पुलिस कमिश्नर, संयुक्त सीपी, डीसीपी समेत कई वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की।

‘शूट एट साइट’ का मिला आदेश

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर किये जा रहे बवाल को देखते हुए उत्तर पूर्वी दिल्ली में 4 जगहों पर कर्फ्यू लगा दिया गया है। वहीं नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में पुलिस को उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने (शूट एट साइट) का आदेश जारी किया गया है। बता दें कि नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून के नाम पर हो रही हिंसा ने उग्र शक्ल अख्तियार कर ली है। सोमवार से अब तक तोड़फोड़ और आगजनी की कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं।

यह भी पढ़ें: ऐसे होते हैं दंगाई: जानें क्यों प्रदर्शन को देते हैं आग, करते हैं हिंसा

Shreya

Shreya

Next Story