प्रणब मुखर्जी पर बुरी खबर: हालत फिर से हुई खराब, अभी भी वेंटिलेटर सपोर्ट पर

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत में अभी भी कोई सुधार नहीं आया है। वह दिल्ली के सैन्य रिसर्च एवं रेफरल (आर एंड आर) अस्पताल में भर्ती हैं। शुक्रवार की सुबह अस्पताल ने कहा, ‘प्रणब मुखर्जी की हालत में कोई बदलाव नहीं आया है।

प्रणब मुखर्जी पर बुरी खबर: हालत फिर से हुई खराब, अभी भी वेंटिलेटर सपोर्ट पर

प्रणब मुखर्जी पर बुरी खबर: हालत फिर से हुई खराब, अभी भी वेंटिलेटर सपोर्ट पर

नई दिल्ली: कुछ दिनों पहले भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन से जुड़ी अफवाह सामने आई थी। सोशल मीडिया पर प्रणब मुखर्जी के निधन की अफवाह के बाद हड़कंप मच गया था। हालंकि पूर्व राष्ट्रपति की बेटी सर्मिष्ठा मुखर्जी ने इन अफवाहों का खडंन किया था। बता दें कि प्रणब मुखर्जी दिल्ली के आर्मी अस्पताल में भर्ती है। यहां दो दिन पहले ही उनकी ब्रेन सर्जरी हुई थी, उसके बाद से उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था। वहीं सर्जरी से पहले उनकी कोरोना जांच हुई, जिसकी रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई थी।

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी वेंटिलेटर सपोर्ट पर

बताया जा रहा है कि पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत में अभी भी कोई सुधार नहीं आया है। वह दिल्ली के सैन्य रिसर्च एवं रेफरल (आर एंड आर) अस्पताल में भर्ती हैं। शुक्रवार की सुबह अस्पताल ने कहा, ‘प्रणब मुखर्जी की हालत में कोई बदलाव नहीं आया है। वह आईसीयू में भर्ती हैं और वेंटिलेटर सपोर्ट पर हैं।’ इससे एक दिन पहले यानी गुरुवार को मुखर्जी के बेटे अभिजीत ने कहा था कि उन पर इलाज का असर हो रहा है और उनकी हालत स्थिर है। बता दें कि गुरुवार को प्रणब मुखर्जी का निधन होने की कई अफवाहें फैल गई थीं, जिसे लेकर सांसद अभिजीत मुखर्जी ने नाराजगी जताई थी।

प्रणब मुखर्जी पर बुरी खबर: हालत फिर से हुई खराब, अभी भी वेंटिलेटर सपोर्ट पर

ये भी देखें:  15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस: विधानसभा पर किया गया फुल ड्रेस रिहर्सल, देखें तस्वीरें

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी मस्तिष्क में एक बड़ा सा थक्का

बता दें कि 84 वर्षीय प्रणब मुखर्जी को 10 अगस्त को यहां सेना के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल में भर्ती कराया गया था। यहां चिकित्सीय जांच में सामने आया कि उनके मस्तिष्क में एक बड़ा सा थक्का है, जिसके बाद उनकी मस्तिष्क की सर्जरी की गई थी। कोविड-19 जांच में उनके संक्रमित होने की भी पुष्टि हुई थी।

भारत में मीडिया फर्जी खबरों की एक फैक्टरी-अभिजीत मुखर्जी

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन की अफवाहों को लेकर अभिजीत मुखर्जी ने ट्वीट किया था, ‘मेरे पिता श्री प्रणब मुखर्जी अब भी जिंदा है और ‘हेमोडायनामिक’ तौर पर स्थिर हैं।’ उन्होंने लिखा, ‘कई वरिष्ठ पत्रकारों के सोशल मीडिया पर गलत खबरें फैलाने से स्पष्ट हो गया है कि भारत में मीडिया फर्जी खबरों की एक फैक्टरी बन गई है।’

प्रणब मुखर्जी पर बुरी खबर: हालत फिर से हुई खराब, अभी भी वेंटिलेटर सपोर्ट पर

ये भी देखें:  अब चीन का होगा शिकारः चालबाजी का जवाब देने आ गई कॉम्बेट की टीम

उन्होंने यह भी लिखा, “जब मैं देखता हूं कि भारत में कोरपोरेट मीडिया घराने, कुछ पत्रकारों और सोशल मीडिया पर लोग सुर्खियों में रहने के लिए जानबूझकर फर्जी खबरों का धंधा करने लगते हैं तो मेरा सिर शर्म से झुक जाता है। एक ही झटके में एक जीवित व्यक्ति को मृत बनाने के लिए कितना गिर जाते हैं वे।”

ये भी देखें:  सेना पर आतंकी हमला: 15 अगस्त से पहले बड़ी साजिश, दो जवान शहीद

मीडिया से अनुरोध करती हूं, कि मुझे फोन न करें

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की बेटी एवं कांग्रेस नेता शर्मिष्ठा मुखर्जी ने भी ट्वीट किया, ‘मेरे पिता के बारे में आ रही खबरें गलत हैं। मैं विशेषकर मीडिया से अनुरोध करती हूं, कि मुझे फोन न करें…. ताकि अस्पताल से कोई भी अद्यतन जानकारी आने के समय मेरा फोन ‘बिजी’ ना हो।’ बता दें कि मुखर्जी 2012 से 2017 तक भारत के राष्ट्रपति रहे हैं।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App