×

भक्तों पर बड़ी खबर: इस मंदिर में दर्शन से पहले कराना होगा कोरोना टेस्ट, निर्देश जारी

मंदिर की तरफ से यह बता दिया गया है कि भगवान अयप्पा के दर्शनों के लिए 48 घंटों के भीतर कराए गए कोरोना वायरस के RT-PCR टेस्ट की नेगेटिव रिपोर्ट साथ लाना जरूरी होगा। अगर किसी श्रद्धालु के पास नेगेटिव रिपोर्ट नहीं होगी, तो उसे मंदिर में प्रवेश की अनुमति नहीं मिलेगी।

Newstrack
Updated on: 26 Dec 2020 6:50 AM GMT
भक्तों पर बड़ी खबर: इस मंदिर में दर्शन से पहले कराना होगा कोरोना टेस्ट, निर्देश जारी
X
भक्तों पर बड़ी खबर: इस मंदिर में दर्शन से पहले कराना होगा कोरोना टेस्ट, निर्देश जारी
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: अब से सबरीमाला मंदिर में भगवान अयप्पा के दर्शन करने से पहले श्रद्धालुओं को RT-PCR टेस्ट करवाना होगा। जी हां, कोरोना वायरस को मद्देनजर रखते हुए केरल हाईकोर्ट और राज्य सरकार ने श्रद्धालुओं के लिए निर्देश जारी किए हैं। केरल हाईकोर्ट और राज्य सरकार ने कहा हैं कि सबरीमाला मंदिर में भगवान अयप्पा के दर्शन से पहले हर श्रद्धालु को कोरोना वायरस के आरटी-पीसीआर टेस्ट की नेगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी। आपको बता दें कि इस निर्देश को आज यानी 26 दिसंबर से लागू कर दिया गया है।

श्रद्धालुओं को साथ लाना होगा RT-PCR टेस्ट की नेगेटिव रिपोर्ट

सबरीमाला मंदिर की व्यवस्था संभालने वाले त्रावणकोर देवस्वोम बोर्ड ने कोर्ट और राज्य सरकार द्वारा जारी किए गए निर्देश के बारे में जानकारी दी है। उन्होंने बताया, ' कोर्ट और राज्य सरकार ने मंदिर की सुरक्षा को मद्देनजर रखते हुए निर्देश जारी किए है। मंदिर की तरफ से यह बता दिया गया है कि भगवान अयप्पा के दर्शनों के लिए 48 घंटों के भीतर कराए गए कोरोना वायरस के RT-PCR टेस्ट की नेगेटिव रिपोर्ट साथ लाना जरूरी होगा। अगर किसी श्रद्धालु के पास नेगेटिव रिपोर्ट नहीं होगी, तो उसे मंदिर में प्रवेश की अनुमति नहीं मिलेगी।'

ये भी पढ़ेंः लव जिहाद या छल विवाहः निकाह की मजबूरी क्यों, इसे समझना बहुत जरूरी

Sabarimala Temple

मकरविलक्कु पूजा के लिए फिर खुलेगा द्वार

आपको बता दें कि त्रावणकोर देवस्वोम बोर्ड के ने यह जानकारी दी है कि , 26 दिसंबर को मंडला पूजा के बाद सबरीमाला मंदिर को बंद कर दिया जाएगा और इसके बाद 31 दिसंबर को मकरविलक्कु पूजा के लिए फिर से खोला जाएगा। कोरोना वायरस महामारी के बाद सबरीमाला मंदिर में यह तीर्थयात्रा का पहला वार्षिक सीजन है। वही, केरल हाईकोर्ट ने मंदिर में दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं की संख्या प्रतिदिन 5000 तक निर्धारित की गई है।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story