हो जाएं तैयार कश्मीर की वादियों में घूमने के लिए, सरकार ने हटाए प्रतिबंध

आज यानि 10 अक्टूबर से पर्यटकों के प्रवेश पर से प्रतिबंध को हटा दिया गया है और अब पर्यटक जम्मू-कश्मीर की खूबसूरत वादियों में घूमने जा सकते हैं।

हो जाएं तैयार कश्मीर की वादियों में घूमने के लिए, सरकार ने हटाए प्रतिबंधहो जाएं तैयार कश्मीर की वादियों में घूमने के लिए, सरकार ने हटाए प्रतिबंध

हो जाएं तैयार कश्मीर की वादियों में घूमने के लिए, सरकार ने हटाए प्रतिबंध

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर की खूबसूरत वादियों में अब पर्यटक फिर से घूमने जा सकेंगे। आज यानि 10 अक्टूबर से पर्यटकों के प्रवेश पर से प्रतिबंध को हटा दिया गया है और अब पर्यटक जम्मू-कश्मीर की खूबसूरत वादियों में घूमने जा सकते हैं। जम्मू-कश्मीर में 2 महीने पहले आतंकी खतरे को देखते हुए पर्यटकों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। वहीं उस समय वहां पर मौजूद पर्यटकों को भी वहां से जाने के निर्देश दिए गए थे। राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने सोमवार को सुरक्षा समीक्षा बैठक के बाद पर्यटकों के प्रवेश पर प्रतिबंध को हटाने का फैसला लिया था।

आतंकी हमले की सूचना के बाद लगी थी रोक-

सरकार ने आतंकी हमले की खुफिया सूचना मिलने के बाद अमरनाथ की यात्रा को बीच में रोक दिया था। इसके बाद से पर्यटकों को घाटी से जाने के निर्देश दिया गया था। इसके तीन के बाद ही केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 को हटाने का फैसला लिया था। फैसले के बाद घाटी में किसी भी तरह की अप्रिय घटना को रोकने के लिए सरकार ने घाटी में मोबाइल, नेट, टीवी जैसी सुविधाओं पर प्रतिबंध लगा दिया था। साथ ही घाटी में अतिरिक्त सेना बलों की सुरक्षा को तैनात किया गया था।

यह भी पढ़ें: RBI का लक्ष्मी विलास बैंक को झटका, नहीं होगा इंडियाबुल्स के साथ विलय

जम्मू के लोगों को मिल रहा प्रतिबंध हटाने का लाभ-

प्रतिबंध को 2 महीने से अधिक समय हो चुका है और अब इसमें थोड़ी छूट दी गई है। इस छूट का अधिक लाभ जम्मू में रहने वालों को मिल रहा है। क्योंकि कश्मीर में अभी भी मोबाइल सेवा और इंटरनेट सेवाओं को शुरु नहीं किया गया है। टूरिस्ट ऑपरेटरों ने अगस्त के आखिरी में बताया था कि पर्यटकों के न आने से काफी नुकसान हो रहा है। बताया जा रहा है कि 5 अगस्त के बाद कश्मीर में केवल 150 यात्री ही वहां पर घूमने गए हैं। जबकि शुरु के 7 महीनों में 5 लाख से अधिक लोग वहां पर घूमने गए थे।

पिछले दो महीनों से रोज हो रही बैठक-

एक प्रवक्ता ने बताया कि 5 अगस्त से ही राज्यपाल रोज शाम 6 बजे से 8 बजे तक स्थिति-सह-सुरक्षा समीक्षा बैठकें कर रहे हैं। बैठक में प्रतिबंध लगाने के बाद सुरक्षा परिदृश्य की समीक्षा पर ध्यान केंद्रित। प्रवक्ता ने कहा कि स्थिति और सुरक्षा समीक्षा बैठकों में बीते समय में लिए गए कुछ महत्वपूर्ण फैसलों में स्कूलों, कॉलेजों और यूनिवर्सिटीस को फिर से खोलना, वाहनों को फिर से शुरु करना और अतिरिक्त यात्रा काउंटर को खोलना शामिल है। राज्यपाल ने सोमवार को सेब की खरीद में हुई बढ़ोत्तरी की सूचना भी दी थी, जो कि 850 टन और 3.25 करोड़ रुपये के पार पहुंच चुका है। उन्होंने बताया कि सेब की दरों में कुछ बदलाव किए जा रहे हैं जिनके बारे में जलेद ही बताया जाएगा।

यह भी पढ़ें: सूबों में नहीं सुधरे सेहत के हालात तो की जाएगी बजट में बड़ी कटौती: नीति आयोग