कर्नाटक में राजनीतिक संकट, सरकार बचाने के लिए कांग्रेस ने भेजे दो योद्धा

कर्नाटक में कांग्रेस-जद(एस) सरकार पर संकट की खबरों के बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद और राज्य प्रभारी केसी वेणुगोपाल मंगलवार की शाम को बेंगलुरू पहुंच रहे हैं।

नई दिल्ली: कर्नाटक में कांग्रेस-जद(एस) सरकार पर संकट की खबरों के बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद और राज्य प्रभारी केसी वेणुगोपाल मंगलवार की शाम को बेंगलुरू पहुंच रहे हैं।

सूत्रों का कहना है कि ये दोनों वरिष्ठ नेता राज्य सरकार के मंत्रियों, वरिष्ठ नेताओं और विधायकों से मुलाकात कर संकट को दूर करने का प्रयास करेंगे।

यह भी पढ़ें…नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होंगी किरण बेदी

दरअसल, लोकसभा चुनाव से पहले ही भाजपा नेता कह रहे थे कि 23 मई के बाद कांग्रेस-जद(एस) की सरकार चली जाएगी। कुछ दिनों पहले ही कर्नाटक कांग्रेस के दो विधायकों ने भाजपा नेता एस.एम. कृष्णा से मुलाकात की थी, जिससे ये अटकलें और तेज हो गई थीं।

कर्नाटक की कुल 28 लोकसभा सीटों में से इस बार भाजपा ने 25 सीटें हासिल की हैं तो वहीं कांग्रेस-जद(एस) को 1-1 सीट मिली है। एक सीट निर्दलीय सांसद के खाते में गई है।

यह भी पढ़े…आखिर माधुरी दीक्षित क्यों नहीं चाहती की उन पर बायोपिक बने?

राज्य विधानसभा चुनाव में 225 विधानसभा सीटों में से भाजपा को 104, कांग्रेस को 78, जद(एस) को 37, बसपा को 1 और अन्य को तीन सीटों पर जीत मिली थी।

भाषा