शादी के पहले लड़कियां रख सकती हैं करवा चौथ का व्रत, जानें कैसे

विद्वानों के अनुसार, कुंवारी लड़कियां भी करवाचौथ का व्रत रख सकती हैं। इससे करवामाता का आशीर्वाद ही मिलेगा, कोई नुकसान नहीं होगा।

लखनऊ: वैसे तो सभी को मालूम है कि शादीशुदा महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लिए करवा चौथ का व्रत रखती हैं। लेकिन इस आज के इस दौर में करवाचौथ का व्रत का क्रेज बढ़ा है। कुवांरी लड़कियां भी इस व्रत को करने लगी हैं। तो आइये बताते है कि क्या कुवांरी लड़कियां ये व्रत रख सकती हैं। और रख सकती ​हैं तो कैसे…

ये भी पढ़ें—  करवाचौथ स्पेशल : अखंड सौभाग्य का व्रत करवाचौथ

इस साल करवाचौथ 17 अक्टूबर को पड़ रहा है। करवाचौथ का व्रत सिर्फ सुहागिन महिलाएं ही नहीं बल्कि बहुत सारी कुंवारी लड़कियां भी रखती हैं। पर क्या शादी से पहले करवा चौथ का व्रत रखना सही है?

विद्वानों के अनुसार, कुंवारी लड़कियां भी करवाचौथ का व्रत रख सकती हैं। इससे करवामाता का आशीर्वाद ही मिलेगा, कोई नुकसान नहीं होगा।

ये भी पढ़ें— करवाचौथ पर बढ़ाने के लिए खुशियों के फसाने, जरूर सुनिए बॉलीवुड के ये हिट गाने

प्रेमी और मंगेतर के लिए व्रत करती हैं कुंवारी लड़कियां

ज्यादातर कुंवारी लड़कियां अपने प्रेमी और मंगेतर के लिए व्रत करती हैं। पर अगर आपका कोई अभी किसी से कोई रिश्ता नहीं बना है तो भी आप अपने भावी पति का ख्याल कर व्रत रख सकती हैं। वहीं, अविवाहित लड़कियों को भी करवाचौथ व्रत का पालन सामान्य नियम के अनुसार ही करना होता है लेकिन पूजा करते समय कुछ बातें बदल जाती हैं।

अगर आप अपने प्रेमी या मंगेतर के लिए व्रत नहीं रख रहीं हैं तो निर्जल व्रत रखने की बजाय निराहार व्रत रख सकते हैं। कुंवारी लड़कियां केवल करवा चौथ माता, भगवान शिव और माता गौरी की पूजा करें और उनकी कथा सुनें। कुंवारी कन्याओं के लिए नियम है कि वे चांद के जगह पर तारा देखकर अपना व्रत खोलें। चांद को देखकर व्रत पूरा करने का नियम केवल सुहागन स्त्रियों के लिए है। वहीं सुहागन स्त्रियां पूरे श्रंगार के साथ भगवान पूजा अर्चना कर स​कती हैं।

ये भी पढ़ें— करवाचौथ पर पति के सामने दिखना है परफेक्ट, तो अपनाएं ये टिप्स