×

पेंशनर्स के लिए खुशखबरी: नए साल में मिलेगा ये बड़ा तोहफा, खूशी से झूमे लोग

मिली जानकारी के अनुसार, 26 जनवरी 2021 से केंद्र सरकार आगामी एक नई सुविधा शुरू देने जा रही हैं, जो पेंशनर्स की समस्‍याओं का निवारण करेगी। यह एक तरह की हेल्‍पलाइन सेवा है, जिसके तहत बुजुर्गों को एक फोन पर सारी मदद उपलब्ध कराई जाएगी।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 18 Dec 2020 5:29 AM GMT

पेंशनर्स के लिए खुशखबरी: नए साल में मिलेगा ये बड़ा तोहफा, खूशी से झूमे लोग
X
पेंशनर्स के लिए खुशखबरी: नए साल में मिलेगा ये बड़ा तोहफा, खूशी से झूमे लोग
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: अगर आप पेंशनर्स है, तो आपके लिए एक बड़ी खुशखबरी है। केन्द्र सरकार नए साल में लाखों पेंशनर्स के लिए एक नई सुविधा देने जा रही है। जी हां, भारत सरकार 26 जनवरी से 10 राज्यों में पेंशनर्स के लिए एक हेल्पलाइन सेवा देने जा रही है। अगर यह योजना सफल रही, तो इसे पूरे में लागू कर दिया जाएगा। बता दें कि इस सेवा के जरिए पेंशनर्स को अपने पेंशन से लेकर भत्तों तक की पूरी जानकारी दी जाएगी।

26 जनवरी से शुरु होगी पेंशनर्स के लिए नई सुविधा

मिली जानकारी के अनुसार, 26 जनवरी 2021 से केंद्र सरकार आगामी एक नई सुविधा शुरू देने जा रही हैं, जो पेंशनर्स की समस्‍याओं का निवारण करेगी। यह एक तरह की हेल्‍पलाइन सेवा है, जिसके तहत बुजुर्गों को एक फोन पर सारी मदद उपलब्ध कराई जाएगी। केंद्र सरकार ने बुजुर्गों की मदद के लिए प्रस्तावित नेशनल हेल्पलाइन नंबर को लेकर तैयारी फिलहाल पूरी कर ली है।

ये भी पढ़ें….तूफानी बारिश का अलर्ट: इन राज्यों में जमकर बरसेंगे बादल, पड़ेगी कंपाने वाली ठंड

मंत्रालय ने चुना यह टोल फ्री नंबर

आपको बता दें कि मंत्रालय ने इस सेवा के लिए एक टोल फ्री नंबर का चुनाव किया है, जो 14567 है। इस नंबर का इस्तेमाल वर्तमान में तेलंगाना सरकार इस्तेमाल कर रही है। इस सेवा का ट्रायल तेंलगाना से शुरु किया है। इस हेल्पलाइन नंबर के लिए टाटा ट्रस्ट और विजयवाहिनी चैरिटेबल फाउंडेशन की भी मदद ली गई है।

Pension

इस सेवा में जुड़ेंगे स्वयंसेवी संस्थाएं और सामाजिक कार्यकर्ता

मंत्रालय से जुड़े अधिकारियों ने बताया है कि इस हेल्पलाइन सेवा से बुजुर्गों के लिए काम करने वाले देशभर के स्वयंसेवी संस्थाएं और सामाजिक कार्यकर्ता जुड़े होंगे। साथ ही सभी पुलिस थाने और जिला प्रशासन के अधिकारी भी जोड़े जाएंगे। बुजुर्गों को सुरक्षा सहित अपनी छोटी-छोटी जरूरतों के लिए अब भटकना नहीं पड़ेगा। वे गुजारा भत्ता और पेंशन से जुड़े मामले भी इसके जरिए दर्ज करा सकेंगे।

वर्तमान से तीन तरह की है सरकारी पेंशन स्कीम

बता दें कि केंद्रीय श्रम मंत्रालय ऐसी स्कीम लाने की योजना बना रही है, जिसके माध्यम से आम लोग एक साथ पीएफ व पेंशन का लाभ उठाने मदद मिल सकें। देश में इस समय सरकारी तौर पर तीन तरह की पेंशन स्कीम हैं। पहली नेशनल पेंशन स्कीम, दूसरी स्कीम प्रधानमंत्री श्रम योगी और तीसरी अटल पेंशन योजना।

ये भी पढ़ें….सोमवार से खुलेंगे सभी स्कूल, गाइ़लाइन जारी, पढ़ लें ये जरूरी नियम

ये है वो तीनों स्कीम

नेशनल पेंशन स्कीम के जरिए सरकारी व सरकार के अधीन संस्थाओं का एक अंश इसके दायरे में आता है। वहीं, स्कीम प्रधानमंत्री श्रम योगी के अंतरर्गत एनपीएस या पीएफ के दायरे में आने वाले इस स्कीम का लाभ नहीं उठा सकते। इसके अलावा तीसरी स्कीम अटल पेंशन योजना के तहत देश के सभी नागरिक इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। इसके अलावा विभिन्न निजी संस्था व बीमा संस्थाओं की अपनी-अपनी पेंशन स्कीम भी हैं। इस सभी योजना के लिए ग्राहकों को ही किस्त चुकानी पड़ती है।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story