सुन ले पाकिस्तान! पीओके जल्द भारत में आ जाएगा: कलराज मिश्र

पाकिस्तान को लगता है कि पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके), जो भारत का हिस्सा है, उनका है। वे डरे हुए हैं कि भविष्य में, पीओके भारत में आ जाएगा। यह हमारा संकल्प है, हमें पीओके वापस मिल जाएगा।

राजस्थान: राजस्थान के राज्यपाल पद के लिए नियुक्त कलराज मिश्र ने POK को लेकर एक बयान दिया है, जिससे पाकिस्तान की बौखलाहट और बढ़ गई है। कलराज मिश्र ने कहा है कि POK हमारा है, हम लेकर रहेंगे।

खास बात यह है कि कलराज मिश्र राजस्थान के राज्यपाल पद आज ही विराजमान हुए हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को लगता है कि पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके), जो भारत का हिस्सा है, उनका है। वे डरे हुए हैं कि भविष्य में, पीओके भारत में आ जाएगा। यह हमारा संकल्प है, हमें पीओके वापस मिल जाएगा।

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान की सपना: क्या खत्म कर देंगी हरियाणवी गर्ल की पॉपुलैरिटी

एक नजर कलराज मिश्र पर…

कलराज मिश्र कुछ समय पहले तक हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल थे। कलराज राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ पूर्कालिक प्रचारक भी रह चुके हैं। वह केंद्र और यूपी सरकार में वह कैबिनेट मंत्री भी थे।

बता दें कि वर्ष 2010 से 2012 तक वह प्रदेश भाजपा के प्रभारी रहे। पिछले लोकसभा चुनाव के वक्त भाजपा के प्रभारी थे। वह तीन बार राज्यसभा सांसद और एक बार देवरिया से लोकसभा सदस्य भी रह चुके हैा

उल्लेखनीय है कि अभी तक वे हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल की जिम्मेदारी संभाल रहे थे। इससे पहले कलराज मिश्र मोदी सरकार में 2017 तक सूक्ष्‍म, लघु और उद्यम मंत्री (एमएसएमई) रहे। वह तीन बार राज्‍यसभा के भी सदस्‍य रह चुके हैं। कलराज मिश्र ने 2019 के चुनाव से पहले लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने का ऐलान किया था।

यह भी पढ़ें:  चंद्रयान-2: इतिहास रचने से थोड़ी दूर ISRO, लैंडर ‘विक्रम’ आज ऑर्बिटर से होगा अलग

इसके पीछे उन्होंने कई कारण गिनाये थे कि उन्हें अहम जिम्‍मेदारियां दी गई हैं, जिसके चलते वे अब चुनाव नहीं लड़ पाएंगे। बता दें कि 2014 के बाद 75 साल से अधिक आयु के कई वरिष्‍ठ नेता सक्रिय राजनीति से रिटायर हो गए थे। यही माना जा रहा था कि इसी आधार पर 2017 में कलराज मिश्र ने मंत्री पद से इस्‍तीफा दे दिया था। यूपी भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष रहने के अलावा वह तीन बार राज्यसभा सांसद और एक बार देवरिया से लोकसभा सदस्य भी रहे।

लखनऊ पूर्वी विधानसभा क्षेत्र से वह विधायक भी रह चुके हैं। मिश्र भाजयुमो के पहले निर्वाचित राष्ट्रीय अध्यक्ष बने थे। लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान कलराज मिश्र को हरियाणा का चुनाव प्रभारी बनाया गया था। राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह का 5 साल का कार्यकाल कल सोमवार को पूरा होने पर कलराज को यह जिम्मेदारी सौंप दी जाएगी।

उत्तर प्रदेश निवासी कलराज मिश्र भाजपा के बड़े नेता माने जाते हैं। कलराज संघ पृष्ठभूमि से आते हैं, वे उत्तर प्रदेश के देवरिया लोकसभा क्षेत्र से चुने जाते रहे हैं। उन्हें इसी साल जुलाई में हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल पद पर नियुक्त किया गया था।