गुजरात: 23 हीरा कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव, कारखानों को बंद करने का आदेश

जिन इकाइयों में सामाजिक दूरी बनाने के मानदंड का पालन नहीं किया जा रहा है, उनपर 10,000 रुपये का जुर्माना लगाया गया है। एसएमसी ने कहा कि वह हीरे की इकाइयों की जांच करना जारी रखेगा कि वायरस के प्रसार को रोकने के लिए वहां सामाजिक दूरी बनाने जैसे मानदंडों का पालन और मास्क तथा सैनिटाइटर का उपयोग किया जा रहा है या नहीं।

सूरत: कोरोना संक्रमण के कारण गुजरात के सूरत शहर में हीरा कारखानों को बंद करना पड़ा। कारखानों में कार्यरत 23 श्रमिक कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। जिसके बाद नगर निकाय अधिकारियों ने 8 हीरा कारखानों को आंशिक रूप से बंद करने का आदेश दिया गया है। साथ ही उनके अन्य कर्मियों को 14 दिन होम क्वारंटाइन में भेजने के लिए कहा है। गौरतलब है कि सूरत देश का सबसे बड़ा डायमंड हब है, जहां बड़े पैमाने पर हीरे काटने और उसे चमकाने व तराशने का काम किया जाता है।

23 कर्मियों को कोविड-19 से संक्रमित पाया गया

सूरत नगर निगम (SMC) ने कहा कि कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए कतारगाम इलाके में स्थित इन आठ हीरा इकाइयों की कुछ मंजिलों और विभागों को बंद करने का आदेश दिया है। एसएमसी के उपायुक्त आशीष नाइक ने शनिवार को कहा कि पिछले तीन दिन में इन हीरे कारखानों में काम करने वाले 23 कर्मियों को कोविड-19 से संक्रमित पाया गया है और यह संख्या बढ़ रही है।

ये भी देखें: विश्व रक्तदाता दिवस: ‘हर 2 सेकेंड में किसी न किसी को रक्त की आवश्यकता होती है’

नगर निकाय ने एक बयान में कहा कि संक्रमण के कई पुष्ट मामलों का पता चलने के साथ ही शिवम ज्वैलर्स, एसआरके एम्पायर, धर्मनंदन डायमंड्स, रिंकल इम्पेक्स, सी दिनेश एंड को, जेबी एंड ब्रदर्स और रॉयल डायमंड्स सहित कई हीरे इकाइयों के कुछ विभागों को बंद कर दिया गया है। इन इकाइयों के अपने अन्य श्रमिकों को 14 दिन के क्वारंटाइन का कड़ाई से पालन करने के लिए कहा गया है।

सोशल डिसटेंसिंग नहीं अपनाने पर लगेगा जुर्माना

बयान में यह भी कहा गया है कि जिन इकाइयों में सामाजिक दूरी बनाने के मानदंड का पालन नहीं किया जा रहा है, उनपर 10,000 रुपये का जुर्माना लगाया गया है। एसएमसी ने कहा कि वह हीरे की इकाइयों की जांच करना जारी रखेगा कि वायरस के प्रसार को रोकने के लिए वहां सामाजिक दूरी बनाने जैसे मानदंडों का पालन और मास्क तथा सैनिटाइटर का उपयोग किया जा रहा है या नहीं।

ये भी देखें:एक्ट्रेस को राहत: कल तक थी परेशान, आज मां का हो रहा इलाज

सूरत में लगभग 6,000 हीरा इकाइयाँ

निकाय अधिकारियों ने बताया कि इन श्रमिकों के परिवार के सदस्यों को भी पृथक-वास में रखा गया है। रत्न एवं आभूषण निर्यात संवर्धन परिषद (जीजेईपीसी) के क्षेत्रीय अध्यक्ष दिनेश नवाडिया ने कहा कि सूरत में हीरा उद्योग में लगभग 6.5 लाख श्रमिक काम करते हैं। उन्होंने बताया कि सूरत में लगभग 6,000 हीरा इकाइयाँ हैं।