अभी-अभी कांग्रेस के दिग्गज नेता का निधन, पार्टी में शोक की लहर

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व कानून मंत्री हंसराज भारद्वाज का रविवार को निधन हो गया। हंसराज भारद्वाज ने 83 वर्ष की उम्र में मैक्स हॉस्पिटल में अंतिम सांस ली। वह पिछले कुछ समय से अस्वस्थ चल रहे थे। भारद्वाज को चार दिन पहले इस अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

नई दिल्ली: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व कानून मंत्री हंसराज भारद्वाज का रविवार को निधन हो गया। हंसराज भारद्वाज ने 83 वर्ष की उम्र में मैक्स हॉस्पिटल में अंतिम सांस ली। वह पिछले कुछ समय से अस्वस्थ चल रहे थे। भारद्वाज को चार दिन पहले इस अस्पताल में भर्ती कराया गया था। कल शाम 4 बजे निगम बोध घाट पर अंतिम संस्कार किया जाएगा। इस संबंध में परिवार ने जानकारी दी।

यह भी पढ़ें…यस बैंक का SBI में नहीं होगा विलय, RBI गवर्नर ने किया ये बड़ा एलान

कर्नाटक और केरल के पूर्व राज्यपाल हंसराज भारद्वाज केंद्रीय कानून मंत्री रहे हैं। भारद्वाज साल 2004 से 2009 तक केंद्रीय कानून मंत्री रहे थे। इसके बाद उन्हें 2009 में कर्नाटक का राज्यपाल नियुक्त किया गया था और वह 2014 तक इस पद पर रहे। इसके अलावा वह कई बार राज्यसभा के सदस्य भी रहे।

यह भी पढ़ें…इस देश में कोरोना वायरस से 19 लोगों की मौत, इमरजेंसी लागू

भारद्वाज कांग्रेस के उन नेताओं में रहे जो हमेशा खुलकर राहुल गांधी की नेतृत्व क्षमता पर सवाल खड़े करते रहे। साल 2018 में हंसराज ने कहा था कि मैं राहुल गांधी को एक नेता के रूप में स्वीकार नहीं करता। वह इस बात को तभी समझेंगे जब वह कोई पद प्राप्त करेंगे। इससे पहले अप्रैल 2016 में हंसराज ने राहुल गांधी के कांग्रेस उपाध्यक्ष रहते हुए कहा था कि उन्हें अभी सीखने की जरूरत है।

यह भी पढ़ें…CAA प्रदर्शन पर हाईकोर्ट ने दिया ये बड़ा आदेश, जानिए पूरा मामला

भारद्वाज ने 2014 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी हार पर कहा था कि बीजेपी से मुकाबला करने में कांग्रेस बहुत कमजोर साबित हुई। कांग्रेस और राहुल गांधी ग्राउंड रिपोर्ट से पूरी तरह अनजान थे। जब भारद्वाज से पूछा गया था कि क्या कांग्रेस में मोदी का मुकाबला करने की क्षमता है, तो उन्होंने कहा था कि नरेंद्र मोदी जैसे शक्तिशाली प्रचारक का मुकाबला करने की कांग्रेस की रणनीति एकदम बेकार है और 2014 के चुनाव में हम सब यह देख चुके हैं।