हरीश रावत ने मुख्यमंत्री पर की टिप्पणी, पूछे यह सवाल

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा की मुख्यमंत्री जी ने माना है कि हरीश रावत ने प्रायश्चित किया है तो मैं मुख्यमंत्री से कहना चाहता हूं कि मुख्यमंत्री कब प्राश्चित कर रहे हैं क्योंकि हरीश रावत ने दिसंबर 2016 में शासनादेश जारी किया था और मेरी सरकार कुछ ही दिनों के बाद चली गई थी

Published by Rahul Joy Published: July 16, 2020 | 6:17 pm

आपको बताते चले कि साल 2016 में तत्कालीन हरीश रावत सरकार ने एक शासनादेश जारी कर हरकी पैड़ी से निकलने वाली गंगा को स्कैप चैनल घोषित कर दिया था. तभी से साधु और संत इस शासनादेश को निरस्त करने की मांग कर रहे हैं. मंगलवार को अपनी इस गलती पर हरदा ने मांफी भी मांगी थी.

मां-बाप रहें सावधान: बच्चों को डिजिटल क्लास से खतरा, हड्डियों पर होगा बुरा असर

त्रिवेंद्र सरकार अपना काम कर रही

इस बारे में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने कहा कि हरीश रावत पहले अपनी सरकार में काम बिगाड़ते है और फिर बाद में माफी मांगते हैं. पतित पावनी मां गंगा को नहर कहकर उन्होंने गंगा का अपमान किया है. आज वे सत्ता में नहीं हैं तो कह रहे कि उनसे गलती हो गई है, अब त्रिवेंद्र सरकार इसे संभाले. त्रिवेंद्र सरकार अपना काम कर रही है. हरीश रावत ने जो गलत किया है उसे सही किया जाएगा.

मोदी के भगवान अंतरध्यान: भक्तों में मचा हाहाकार, शोक में डूबा देश

कब शासनादेश को समाप्त करने जा रहे

इस पर आज बयान देते हुए पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा की मुख्यमंत्री जी ने माना है कि हरीश रावत ने प्रायश्चित किया है तो मैं मुख्यमंत्री से कहना चाहता हूं कि मुख्यमंत्री कब प्राश्चित कर रहे हैं क्योंकि हरीश रावत ने दिसंबर 2016 में शासनादेश जारी किया था और मेरी सरकार कुछ ही दिनों के बाद चली गई थी लेकिन यह सरकार तो 3 साल से सरकार में है और निरंतर यह मांग उठ रही है कि इस शासनादेश को निरस्त किया जाए तो अब मुख्य मंत्री कब तक प्राश्चित करना चाह रहे हैं और कब शासनादेश को समाप्त करने जा रहे हैं।

यह मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को बताना चाहिए साथ ही उन्हों ने प्रदेश अध्यक्ष भगत दा पर भी निशाना साधते हुए कहा की जो उनके ढोलची भगत जी है उन्होंने कहा कि ये बिल्डर्स को फायदा पहुचने के लिए किया गया था मेरी सरकार तो कुछ ही दिन रही क्या 3 साल से इस कानून को इस लिए बनाए रखी है कि बिल्डर्स को लाभ मिले।

रिपोर्टर- अवानिश जैन, उत्तराखंड

मां-बाप रहें सावधान: बच्चों को डिजिटल क्लास से खतरा, हड्डियों पर होगा बुरा असर

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

 

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App