भारी बारिश और बर्फबारी से मची तबाही, हजारों पेड़ गिरे, दो जवान शहीद

जम्मू-कश्मीर में मौसम ने अचानक करवट ले ली है। बुधवार रात हुई भारी बर्फबारी और बारिश ने काफी तबाही मचाई है। कश्मीर घाटी में अचानक भारी बर्फबारी और बारिश से हजारों पेड़ नष्ट हो गए हैं।

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर में मौसम ने अचानक करवट ले ली है। बुधवार रात हुई भारी बर्फबारी और बारिश ने काफी तबाही मचाई है। कश्मीर घाटी में अचानक भारी बर्फबारी और बारिश से हजारों पेड़ नष्ट हो गए हैं।

इसके अलावा हिमस्खलन की वजह से कुपवाड़ा में एलओसी पर तैनात दो पोर्टर की मौत हो गई। जबकि भारी बर्फबारी की वजह से पेड़ गिरने के कारण एक नागरिक की मौत हो गई। इस बर्फबारी और बारिश की वजह से किसानों को ज्यादा नुकसान हुआ है, क्योंकि पेडों पर लगे सेबों को अभी पूरी तरह से तोड़ा नहीं गया है।

यह भी पढ़ें…गुजरात सरकार ने खरीदा 191 करोड़ रुपये का खास विमान, चलेंगे ये लोग

अचानक भारी बर्फबारी और बारिश की वजह देश के अन्य हिस्सों से घाटी का संपर्क कट गया है। प्रशासन ने श्रीनगर-जम्मू हाइवे, श्रीनगर-कारगिल हाइवे, श्रीनगर-पुंछ हाइवे (मुगल रोड) को बंद कर दिया है। इसके साथ ही वाहनों की आवाजाही भी रोक दी गई है।

यह भी पढ़ें…गेस्ट हाउस कांड: मायावती ने मुलायम के खिलाफ वापस लिया केस, बताई ये वजह

गुरुवार को भी बारिश और बर्फबारी हो रही है। जम्मू क्षेत्र में कल रात से बारिश हो रही है। इससे जनजीवन काफी प्रभावित हुआ है। वहीं घाटी में बर्फबारी हो रही है जिससे पर्यटक काफी खुश हैं।

यह भी पढ़ें…आखिर क्यों योगी सरकार ने 7 पीपीएस अफसरों को किया बर्खास्त? यहां जानें

कश्मीर घाटी के गुलमर्ग के ऊंचाई वाले स्थानों पर लगभग दो फुट बर्फबारी हुई, जबकि तंगदूरी इलाके में 1.5 फुट बर्फ गिरी।

मौसम विभाग ने पहले ही केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू-कश्मीर व लद्दाख में 5 से 8 नवंबर के बीच मौसम में बदलाव और बर्फबारी की आशंका जताई थी। ताजा बर्फबारी व बारिश से मैदान से पहाड़ों तक तापमान में भारी कमी आई है और घाटी पूरी तरह ठंड की चपेट में आ गई है।