नमस्ते ट्रंप: अमेरिकी राष्ट्रपति ने पाकिस्तान को लगाई लताड़, जानें भाषण की बड़ी बातें

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अपने दो दिवसीय भारत दौरे के लिए अहमादाबाद पहुंच चुके हैं। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एयरपोर्ट पर उनका स्वागत किया।

Published by Shreya Published: February 24, 2020 | 2:24 pm
Modified: February 24, 2020 | 7:50 pm

अहमदाबाद: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड  ट्रंप अपने दो दिवसीय भारत दौरे के लिए अहमादाबाद (गुजरात) पहुंच चुके हैं। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एयरपोर्ट पर उनका स्वागत किया। डोनाल्ड ट्रंप का यह दौरा कई मायनो में खास होने वाला है। डोनाल्ड ट्रंप के लिए खास तौर पर आयोजित किए गए कार्यक्रम ‘नमस्ते ट्रंप’ में अमेरिकी राष्ट्रपति ने जमकर भारत की सराहना की। साथ ही उन्होंने अपने भाषण में  पाकिस्तान को नसीहत भी दी है। तो चलिए आपको बताते हैं उनके भाषण से जुड़ी कुछ खास बातें

यह भी पढ़ें: शेयर: बाजार के खुलते ही 445 अंक लुढ़का सेंसेक्स, 12,000 के नीचे पहुंचा निफ्टी

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के संबोधन की 10 बड़ी बातें-

मोदी भारत के सबसे सफल नेता के रुप में हैं।

मोदी का देश बहुत अच्छा कर रहा है और सभी लोग मोदी से प्यार करते हैं।

मोदी के शासनकाल में देश में गरीबों की संख्या घटी है।

ज्यादा से ज्यादा घरों में गैस से खाना बन रहा है और अधिकतर घरों में बिजली पहुंची है।

साथ ही ज्यादातर लोगों के घर में स्वच्छ भारत अभियान के तहत शौचालय बन गया है।

मोदी का शासनकाल में भारत जल्द ही गरीबी से मुक्त राष्ट्र होगा।

शांतिप्रिय देश ने सारा मुकाम हासिल किया है, भारत सबके लिए उदाहरण बना है।

70 सालों में इकोनॉमी का सुपरपावर बना है भारत।

बॉलीवुड फिल्मों के जरिए भारत की रचनात्मकता दिखती है।

ट्रंप ने दिल वाले दुल्हनिया ले जाएंगे फिल्म का जिक्र किया। साथ ही क्रिकेटर विराट कोहली और सचिन तेंदुलकर का भी अपने भाषण में नाम लिया।

पटेल की सबसे ऊंची प्रतिमा बनाकर भारत ने इतिहास रचा।

ट्रंप ने अपने भाषण में भारत के रंगों के त्योहार होली और दीयों के त्योहार दीवाली का भी जिक्र किया।

भारत की एकता विश्व के लिए प्रेरणा है।

अमेरिका में रहने वाले भारतीय शानदार काम करते हैं।

अमेरिका में रहने वाला हर चौथा व्यक्ति गुजरात का है।

हम सबसे मजबूत सेना बना रहे हैं। हम चाहते हैं दोनों देशों के रिश्ते अच्छे बने रहें।

हम दोनों देशों के बीच रिश्ते और मजबूत करने पर चर्चा करेंगे।

हम रक्षा सौदों को और मजबूत करेंगे। दोनों देशों की सेना साझा अभ्यास करेंगे।

हम आतंकवाद का मुकाबला मिलकर करेंगे। दोनों देश मिलकर कट्टरवाद के खिलाफ काम करेंगे।

यह भी पढ़ें: विदेश में हुई भारतीय नागरिक की हत्या, शव भारत लाने के लिए नहीं है पैसे