JNU में हुई हिंसा पर अमित शाह की सख्ती, अधिकारियों से मांगी रिपोर्ट

दिल्ली में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में छात्रों पर हुए हमले के बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इस घटना की रिपोर्ट देने को कहा है। अमित शाह ने दिल्ली के पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक से बातकर मामले की जानकारी ली।

Published by Shreya Published: January 6, 2020 | 8:57 am
Modified: January 6, 2020 | 11:28 am

नई दिल्ली: दिल्ली में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में छात्रों पर हुए हमले के बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इस घटना की रिपोर्ट देने को कहा है। अमित शाह ने दिल्ली के पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक से बातकर मामले की जानकारी ली। इसके साथ ही आईजी स्तर के अधिकारी से मामले की जांच करा कर इस रिपोर्ट देने को कहा है।

वहीं अमित शाह ने मामले का संज्ञान लेते हुए ने दिल्ली के एलजी अनिल बैजल से बात की है। सूत्रों के अनुसार अमित शाह ने एलजी से बात करके कहा है कि वह जेएनयू के प्रतिनिधियों को बुलाएं और उनके साथ बात करें।

वार्डन आर. मीणा ने दिया इस्तीफा

जेएनयू में हुई हिंसा के बाद साबरमती हॉस्टल के वरिष्ठ वार्डन आर. मीणा ने अपनी नाकामी मानते हुए अपना इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने अपने इस्तीफे में लिखा कि मैंने हॉस्टल की सुरक्षा के लिए कई उपाय किए, लेकिन मैं असफल रहा। इस वजह से मैं अपना इस्तीफा दे रहा हूं।

बता दें कि कल देर शाम JNIU के छात्रों पर कुछ नकाबपोश लोगों ने हमला कर दिया। जेएनयू छात्र संगठन (JNUSU) ने दावा किया है कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) ने हिंसा को अंजाम दिया है। जेएनयूएसयू ने दावा किया कि साबरमती और अन्य हॉस्टल में एबीवीपी ने प्रवेश कर छात्रों की पिटाई की।

इसके साथ ही एबीवीपी की ओर से पथराव और तोड़फोड़ भी की गई। कुछ ही देर में रोने और चीखने-चिल्लाने की आवाजों से पूरा कैम्पस गूंज उठा। इस हमले में जेएनयू छात्र संघ की अध्यक्ष आईशी घोष गंभीर रूप से घायल हो गईं।

यह भी पढ़ें: हैरान करने वाला है आमिर ये का नया लुक, देखिए फोटोज व सेल्फी

दरअसल, जेएनयू टीचर्स असोसिएशन ने एक मीटिंग बुलाई थी, जिसमें हंगामा हो गया। छात्रसंघ ने दावा किया है कि उनकी अध्यक्ष आइशी घोष और कई दूसरे स्टूडेंट्स को ABVP के सदस्यों ने पीटा है। पथराव भी किया गया है।

झड़प के दौरान की कुछ तस्वीरें और विडियो भी सामने आए हैं, जिसमें छात्रसंघ की अध्यक्ष खून से लथपथ दिखाई दे रही हैं। एक तस्वीर में टीचर भी घायल दिखी हैं।

जेएनयूएसयू की अध्यक्ष आइशी घोष पर हमला

जेएनयू छात्र संघ (जेएनयूएसयू) की अध्यक्ष आइशी घोष पर हमला किया गया। उनके सिर पर काफी गंभीर चोट भी आई है। वहीं हमले के बाद आइशी घोष ने कहा, ‘मुझे मास्क पहने गुंडों ने बेरहमी से मारा है। मेरा खून बह रहा है। मुझे बेरहमी से पीटा गया।

यह भी पढ़ें: अमेरिका-ईरान में जंग के बीच ऐक्शन में आया इराक, लिया ये बड़ा फैसला

वहीं कानून व्यवस्था को बरकरार रखने के लिए पुलिस को बुलाई गई। पुलिस का कहना है कि, दो दिनों से दो समूहों के बीच तनाव चल रहा था। जेएनयू प्रशासन के अनुरोध पर पुलिस ने आज परिसर में प्रवेश किया।

आपको बता दें कि शुक्रवार को कथित रूप से कुछ स्टूडेंट्स मास्क लगाकर सेंटर फॉर इन्फॉर्मेेशन के ऑफिस में घुस गए थे और सरवर में गड़बड़ी पैदा कर दी थी जिससे ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन में स्टूडेंट्स को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। यूनिवर्सिटी प्रशासन ने उन स्टूडेंट्स के खिलाफ कार्रवाई की बात कही है।

सीएम केजरीवाल ने जेएनयू में हिंसा पर उठाये सवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने हुई हिंसा के बाद ट्वीट कर कहा कि, जेएनयू में हिंसा की खबर से हैरान हूं। स्टूडेंट्स पर हमला किया गया है। पुलिस को फौरन हिंसा रोकनी चाहिए और शांति कायम करनी चाहिए। उन्होंने सवाल किया, ‘अगर हमारे छात्र विश्वविद्यालय कैंपस में सुरक्षित नहीं रहेंगे तो देश कैसे आगे बढ़ेगा।’

यह भी पढ़ें: INDvsSL: बारिश ने फेरा पानी, भारत-श्रीलंका का टी-20 मैच रद्द

एक्ट्रेस स्वरा भास्कर ने किया ट्वीट

स्वरा भास्कर ने भी ट्वीट किया है और लिखा है, ‘मेरी मम्मी की ओर से, SMS के जरियेः नॉर्थ गेट के बाहर मौजूद भीड़ नारे लगा रही है कि देश के गद्दारों को गोली मारो सालों को।’ स्वरा भास्कर की मम्मी JNU में प्रोफेसर हैं और उन्होंने अंदर के हालात की जानकारी दी है। स्वरा भास्कर ने संबंधित एक वीडियो भी शेयर की है।

फैकल्टी सुचित्रा सेन के सिर में चोट

हमले में जेएनयू के CSRD की फैकल्टी सुचरिता सेन को सिर में गंभीर चोट आई। जिसके बाद इलाज के लिए उन्हें एम्स में भर्ती कराया गया। आइशी घोष को भी इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया।

मारपीट की घटना के बाद थाने पहुंचे जेएनयूएसयू (जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी स्टूडेंट्स यूनियन) के अध्यक्ष एनसाई बालाजी ने बताया था, ‘मैंने एबीवीपी के खिलाफ शिकायत दी है।

वहीं अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के प्रतिनिधि सौरभ शर्मा का कहना था कि लेफ्ट के लोगों ने पहले भी एबीवीपी के समर्थकों से मारपीट की थी।

जीतने के बाद इनका हौसला बढ़ गया तो इन्होंने दल-बल के साथ सोमवार सुबह 3 से 5 बजे के बीच हॉस्टलों में जा-जाकर मारपीट की। इन्हों ने छात्रों को धमकी दी कि अब वे जीत गए हैं तो एबीवीपी को बाहर कर देंगे।

यह भी पढ़ें: 6JAN: कैसा रहेगा सोमवार, होगा शुभ या अशुभ, पढ़िए अपना राशिफल

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App