Top

Alert पर सभी राज्यः केंद्र ने जारी कर दिए आदेश, 31 मार्च तक होगा ऐसा

कोरोना वायरस के मद्देनजर हाल ही में प्रधानमंत्री कार्यालय ने आपात बैठक बुलाई थी। वहीं अब केंद्र ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को पत्र लिखकर कोरोना वायरस की गाईडलाइन्स के अनुपालन की अवधि को बढ़ाकर 31 मार्च कर दिया है।

Shivani Awasthi

Shivani AwasthiBy Shivani Awasthi

Published on 27 Feb 2021 3:27 AM GMT

Alert पर सभी राज्यः केंद्र ने जारी कर दिए आदेश, 31 मार्च तक होगा ऐसा
X
जंग रहेगी जारी: वैक्सीन पर बोले पीएम मोदी, मुख्यमंत्री लिखित में दें सुझाव
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के मामलों में हो रही बढ़ोतरी के मद्देनजर केंद्र ने सख्ती बढ़ा दी है। इस बाबत केंद्रीय सचिव अजय भल्ला ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को निर्देश जारी कर दिए हैं। केंद्र की तरफ से पत्र लिख सभी राज्यों में 31 मार्च तक कोरोना वायरस की गाइडलाइन्स को बढ़ाने के लिए कहा गया है। केंद्रीय सचिव ने पत्र में लिखा कि कोविड 19 के खिलाफ जंग को पूरी तर्ज से जीतने के लिए एहतियात बरतने और सख्त निगरानी की जरूरत है।

केंद्र ने राज्यों को लिखी कोरोना अलर्ट पर चिट्ठी

दरअसल, देश में कोरोना महामारी एक बार फिर फैल रही है। महाराष्ट्र, केरल में कोरोना के हाल में सबसे ज्यादा मामले सामने आए, जो पूरे देश में कोरोना केस के कुल आंकड़ों का क्रमशः 37 और 38 फिसदी हैं। इस बाबत हाल ही में प्रधानमंत्री कार्यालय ने आपात बैठक बुलाई थी। वहीं इसके बाद अब केंद्र ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को पत्र लिखकर कोरोना वायरस की गाईडलाइन्स के अनुपालन की अवधि को बढ़ाकर 31 मार्च कर दिया है।

प्रधानमंत्री कार्यालय ने बुलाई आपात बैठक

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने देश में कोरोना वायरस की स्थिति को लेकर जानकारी दी कि फ़िलहाल संक्रमण के एक्टिव मामले 1 लाख 50 हजार से कम हैं लेकिन कुछ राज्यों में दोबारा संक्रमण की संख्या बढ़ने लगी है, जो चिंताजनक हैं। इन राज्यों में महाराष्ट्र से लेकर केरल-पंजाब का नाम शामिल हैं। मात्र केरल में एक दिन में देश के 38 प्रतिशत संक्रमित मामले हैं तो वहीं महाराष्ट्र में 37 फीसदी कोरोना केस सामने आ रहे हैं। वर्तमान में प्रतिदिन मरने वालों की संख्या सौ से कम है।

ये भी पढ़ेँ- कोरोना के नए लक्षण: हो जाएं सावधान, सतर्कता के साथ डाइट में बदलाव

कई राज्यों में रोजाना बढ़ रहे कोरोना के मामलें

प्रदेशों में प्रतिदिन कोरोना मामले बढ़ते जा रहे हैं। ऐसे में कोरोना टेस्ट से लेकर सैम्पलिंग तक सरकार तेजी से काम कर रही हैं। अब तक देश में 21 करोड़ से अधिक कोरोना टेस्ट हो चुके हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि अब तक 1,17,54,788 लोगों को कोरोना की वैक्सीन लग चुकी है।

pm modi in corona meeting

देश में कोरोना का आंकड़ा, नया स्ट्रेन ज्यादा संक्रमित

वैक्सीनेशन को लेकर बता दें कि देश में दो तरह के वैक्सीनेशन हो रहे हैं, फ्रंटलाइन वर्कर्स और हेल्थ केयर वर्कर्स। जिसमें 10,000 से अधिक अस्पतालों का इस्तेमाल हो रहा है। इन अस्पतालों में 2,000 प्राइवेट अस्पताल हैं।

ये भी पढ़ेँ- बंद रहेंगे बैंक: सभी खाताधारक नोट कर लें तारीख, नहीं तो हो सकती है परेशानी

गौरतलब है कि भारत में कोरोना रिकवरी दर 95.99 फीसदी हो गई है लेकिन वायरस के नए स्ट्रेन ने नई चिंता पैदा कर दी है। लोगों को नए स्ट्रेन के लक्षण जान लेने चाहिए क्योंकि ये पुराने कोरोना के लक्षण से थोडा अलग हैं। शुरुआती दौर में कोरोना के जो लक्षण थे उनमें बुखार आना, लगातार खांसी होना और स्वाद के साथ-साथ गंध खोने की शिकायत शामिल थे। लेकिन कोरोना के नए स्ट्रेन के लक्षण इससे अलग हैं। शोधकर्ताओं का मानना है कि नए स्ट्रेन की उत्पत्ति कोरोना में म्यूटेशन की वजह से हुई है।

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story