2000 करोड़ की धोखाधड़ी! मुस्लिम बने टारगेट, CBI ने हाथों लिया केस

आई-मॉनेटरी एडवाइजरी पर आरोप है कि इस कम्पनी ने निवेश के इस्लामिक तरीकों का इस्तेमाल करके उच्च रिटर्न का वादा कर कथित तौर पर लाखों लोगों को चूना लगाया था।

कर्नाटक: सीबीआई ने बड़ी कार्यवाही करते हुए कर्नाटक स्थित ‘आई-मॉनेटरी एडवाइजरी’ और इस समूह की कंपनियों द्वारा चलाई जाने वाली करोड़ों रुपए की पोंजी योजना से संबंधित मामले की जांच ने अपने हाथ में ले ली है।

दरअसल, आई-मॉनेटरी एडवाइजरी पर आरोप है कि इस कम्पनी ने निवेश के इस्लामिक तरीकों का इस्तेमाल करके उच्च रिटर्न का वादा कर कथित तौर पर लाखों लोगों को चूना लगाया था।

खास बात यह है कि आई मॉनेटरी एडवाइजरी पोंजी घोटाला मामले में आरोपी मंसूर खान को आज विशेष जांच दल को सौंप दिया गया है। मंसूर खान 16 अगस्त तक एसआईटी की हिरासत में रहेगा।

यह भी पढ़ें: झूठा दावा! चांद पर नहीं पहुंचा कोई, इनका जाना सच या झूठ

सीबीआई अधिकारियों के मुताबिक…

सीबीआई के अधिकारियों के मुताबिक, एजेंसी ने कम्पनी और उसके कथित मुख्य षड्यंत्रकारी एवं प्रबंध निदेशक मंसूर खान के अलावा 24 अन्य और आईएमए की चार सहयोगी कंपनियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

गौरतलब है कि साल 2006 में मंसूर खान ने आई मॉनेटरी एडवाइजरी के नाम से एक बिजनेस की शुरुआत की थी। वह बिजनेस ग्रैजुएट है। उसने निवेशकों को बताया कि यह संस्था बुलियन में निवेश करेगी और निवेशकों को 7 से 8 फीसदी का रिटर्न मिलेगा।

मुस्लिमों को ठगा…

मंसूर खान ने उच्च रिटर्न का वादा कर एक लाख से अधिक निवेशकों विशेषकर मुस्लिमों को कथित तौर पर ठगा। बता दें कि उसे 19 जुलाई को देर रात दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया गया था।

यह भी पढ़ें:  अफवाह या हकीकत, भारत का चंद्रयान उठायेगा इस झूठ से पर्दा

सीबीआई ने बताया…

सीबीआई ने बताया कि वह करीब 2000 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी कर दुबई भाग गया था। अधिकारियों ने बताया कि कर्नाटक सरकार के अनुरोध पर सीबीआई ने जांच अपने हाथ में ली है।

गौरतलब है कि लोगों के सामने मामला तब आया जब़ मंसूर खान एक वीडियो संदेश जारी करके दुबई भाग गया था। जारी वीडियो संदेश में उसने कहा था कि वह राज्य और केंद्र सरकार में भ्रष्टाचार की वजह से आत्महत्या कर रहा है।

आरोपी और आईएमए ज्वैलर्स के संस्थापक मंसूर खान को 19 जुलाई को दिल्ली पुलिस ने दुबई से आने के बाद नई दिल्ली हवाई अड्डे पर गिरफ्तार किया था। खान को 21 जुलाई को नयी दिल्ली आने पर प्रवर्तन निदेशालय ने गिरफ्तार किया। वह फिलहाल न्यायिक हिरासत में है।