×

मोबाइल से होगा खुलासा! शरजील इमाम के फोन से मिल सकते हैं अहम सबूत

शर्जिल इमाम ने कबूला कि विवादित भाषण उसने दिया था. हालांकि उसने यह भी कहा कि पूरा भाषण उसका नहीं है। उसने कहा है कि जोश में आकर उसने असम को देश से अलग करने की बात कही थी। शरजील ने यह भी कहा कि उसे गिरफ्तारी और अपने दिए गए बयान पर कोई अफसोस नहीं है।

Shivakant Shukla

Shivakant ShuklaBy Shivakant Shukla

Published on 31 Jan 2020 1:01 PM GMT

मोबाइल से होगा खुलासा! शरजील इमाम के फोन से मिल सकते हैं अहम सबूत
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

देशद्रोह शरजिल इमाम का मोबाइल फोन दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने बरामद कर लिया है। क्राइम ब्रांच ने शरजील इमाम के बिहार स्थित आवास से मोबाइल बरामद किया है। क्राइम ब्रांच के वरिष्ठ सूत्रों के हवाले से है यह जानकारी मिली है। सूत्रों के अनुसार, शरजील ने पूछताछ के दौरान दिल्ली पुलिस को जो बयान दिया था, उसके मुताबिक उसके आवास में छुपाकर रखे गए जगह से मोबाइल फोन की बरामदगी हुई है।

पुलिस ने की शरजिल से पूछताछ

क्राइम ब्रांच शरजील को दिल्ली लेकर आई जहां हिरासत में उससे पूछताछ की गई। पुलिस के सूत्रों की माने तो पूछताछ में शरजील ने कुबूल किया कि वो जानता था कि ऐसे भाषण देने से वो गिरफ्तार हो सकता है, अपनी गिरफ्तारी का उसे कोई अफसोस नहीं है।माना जा रहा है कि इस मोबाइल से क्राइम ब्रांच की टीम को कई महत्वपूर्ण जानकारी और सबूत मिल सकते है।

ये भी पढ़ें—जमीन में जिंदा दफन हो गये दो मासूम, दहल उठा ये पूरा इलाका

बताया जा रहा है कि मोबाइल बरामद होने के बाद पुलिस ये पता करने की कोशिश करेगी कि शरजील बयान देने से पहले किन लोगों के संपर्क में था। इसके बाद उसने किन लोगों से संपर्क किया। पुलिस ये भी जानना चाहती है कि वो किन वेब साइटों को देखा करता था। स्पेशल सेल के सूत्रों का कहना है कि इससे शरलीन की सोच के बारे में कोई धारणा बनाने में मदद मिलेगी।

देशद्रोह शरजील इमाम ने कबूला जुर्म

शर्जिल इमाम ने कबूला कि विवादित भाषण उसने दिया था. हालांकि उसने यह भी कहा कि पूरा भाषण उसका नहीं है। उसने कहा है कि जोश में आकर उसने असम को देश से अलग करने की बात कही थी। शरजील ने यह भी कहा कि उसे गिरफ्तारी और अपने दिए गए बयान पर कोई अफसोस नहीं है।

बरामद मोबाइल को फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा जाएगा

फॉरेंसिक जांच के लिए बरामद मोबाइल को भेजा जाएगा और सभी डिलीट डेटा को रिकवरी की कोशिश की जाएगी। जांच में जुटी क्राइम ब्रांच की टीम को उम्मीद है कि उस मोबाइल फोन के डाटा से कई महत्वपूर्ण जानकारी और सबूत हासिल किए जा सकते हैं। ऐसे में क्राइम ब्रांच की तफ़्तीश के लिए शरजील का बरामद मोबाइल फोन बेहद महत्वपूर्ण है। इसके अलावा फोन के अलावा शरजील के दोस्तों से भी पूछताछ की जाएगी। छह राज्यों में शारजील इमाम पर राजद्रोह का मुकदमा दर्ज हो चुके हैं. शारजील इमाम मूल रूप से बिहार के जहानाबाद जिले के काको का रहने वाला है।

ये भी पढ़ें—भारत के ये 5 रहस्य! आज तक वैज्ञानिक भी नहीं सुलझा पाए इसको

बता दें कि शारजील इमाम पर राजद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया था। एंटी-सीएए प्रोटेस्ट के दौरान अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी और फिर दिल्ली के शाहीनबाग में दिए गए उनके भाषणों की क्लीपिंग सामने आने के बाद छह राज्यों में बिहार,असम, अरुणाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, दिल्ली और मणिपुर उसके खिलाफ राजद्रोह के केस दायर हो चुके हैं।

Shivakant Shukla

Shivakant Shukla

Next Story