भारत के पैरों में इमरान! अकल ठिकाने आने पर मांगी भीख पाकिस्तान ने

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद से पाकिस्तान की बौखलाहट इस कदर बढ़ गई है कि उसने भारत से अपने सारे व्यापारिक रिश्ते खत्म कर लिए हैं। इसके साथ ही पाकिस्तान में भारतीय सामानों से बॉयकॉट का अभियान भी चला दिया है।

नई दिल्ली : जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद से पाकिस्तान की बौखलाहट इस कदर बढ़ गई है कि उसने भारत से अपने सारे व्यापारिक रिश्ते खत्म कर लिए हैं। इसके साथ ही पाकिस्तान में भारतीय सामानों से बॉयकॉट का अभियान भी चला दिया है। भारत-पाक के बीच चलने वाली ट्रेन सेवाएं भी बंद कर दी गई है।

नफरत की आग में झुलसा पाकिस्तान

नफरत की आग में पाकिस्तान इस तरह से झुलस गया है कि भारतीय फिल्मों को भी बैन कर दिया है। उन विज्ञापनों को भी बंद कर दिया है जिनमें भारतीय नजर आ रहे हैं।

यह भी देखें… समाजवादी पार्टी कार्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव

अगर देखा जाए तो इंटरनेशनल सीमा पर भारत की तैयारियों के सामने थके हुए पाक ने व्यापार के मोर्चे पर भारत को नुकसान पहुंचाना चाहता था। लेकिन 30 दिन निकलते ही पाकिस्तान को अपने फैसले का असर समझ में आने लगा। पाक के इन प्रतिबंधों का कुछ खास असर भारत पर तो नहीं हुआ, लेकिन पाकिस्तान में खतरे की स्थिति पैदा हो गई।

आपको बता दें कि पाकिस्तान की ड्रग इंडस्ट्री इस समय खत्ता हाल में है। पाकिस्तान ने जब भारत से व्यापारिक रिश्ते खत्म किए, तो वहां के व्यापारियों को भारत से दवाएं मंगवाना बंद करने की मजबूरी थी। कुछ ही दिनों में पाकिस्तान के अस्पताल में जीवन रक्षक दवाओं की भीषण कमी हो गई। दवाओं के अभाव में मरीज तड़पने लगे।

यह भी देखें… पाकिस्तान फिर झूठा साबित! ICJ में कश्मीर पर नहीं पेश कर पाया सबूत

लेकिन पाकिस्तान को अब अपनी गलती का एहसास हुआ। लाचार पाकिस्तान ने अब भारत से दवाएं मंगाने की अनुमति दे दी है। पाकिस्तानी मीडिया न्यूज के अनुसार, संघीय सरकार ने सोमवार को भारत से जीवन रक्षक दवाओं के आयात को मंजूरी दे दी है, ताकि मरीजों को राहत मिल सके।

पाकिस्तान के वाणिज्य मंत्रालय ने वैधानिक नियामक आदेश जारी कर अपने यहां की दवा इंडस्ट्री को इंडिया से मेडिसिन इंपोर्ट करने की इजाजत दे दी है।