भारत 8वीं बार बना UNSC का अस्थायी सदस्य, चीन-पाक समेत सभी देशों का समर्थन

बुधवार को  संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का अस्थाई सदस्य के रुप में भारत  को चुन लिया गया है। अब भारत 2021-22 कार्यकाल के लिए संयुक्त राष्ट्र की सर्वोच्च संस्था का अस्थाई सदस्य बन गया। 192 वोटो में से भारत के पक्ष में 184 वोट पड़ें।  सुरक्षा परिषद के अस्थाई सदस्यों और आर्थिक एवं सामाजिक परिषद के सदस्यों के लिए चुनाव कराया था।

Published by suman Published: June 18, 2020 | 10:30 am
Modified: June 18, 2020 | 10:33 am

नई दिल्ली बुधवार को  संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का अस्थाई सदस्य के रुप में भारत  को चुन लिया गया है। अब भारत 2021-22 कार्यकाल के लिए संयुक्त राष्ट्र की सर्वोच्च संस्था का अस्थाई सदस्य बन गया। 192 वोटो में से भारत के पक्ष में 184 वोट पड़ें।  सुरक्षा परिषद के अस्थाई सदस्यों और आर्थिक एवं सामाजिक परिषद के सदस्यों के लिए चुनाव कराया था। बता दें भारत, 8वीं बार अस्थाई सदस्य चुना गया है।

यह पढ़ें…भारत-चीन तनाव पर अमेरिका ने दिया बड़ा बयान, शहीद सैनिकों को दी श्रद्धांजलि

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस त्रिमूर्ति ने अपने ट्विटर हैंडल से इस बात की जानकारी देते हुए लिखा कि सदस्य देशों ने भारत को भारी समर्थन देते हुए यूएनएससी का अस्थाई सदस्य चुना है। बता दें इस बार बुधवार को सुरक्षा परिषद चुनाव में भारत को आसानी से जीत मिल गई जो उसे 2021-22 के कार्यकाल के लिए गैर-स्थायी सदस्य के रूप में संयुक्त राष्ट्र उच्च-तालिका में लाएगा।इससे पहले भारत पहली बार 1950 में गैर-स्थायी सदस्य के रूप में चुना गया था और आज आठवीं बार चुना गया।

 

 

 

 

यूएन हेडक्वार्टर में तीन चुनाव हुए। सभी सदस्य देशों ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के अगले प्रेसिडेंट, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के पांच गैर अस्थायी देशों और संयुक्त राष्ट्र आर्थिक और सामाजिक परिषद (ECOSOC) के सदस्यों के चुनाव के लिए वोट किया। इसके साथ ही भारत संयुक्त राष्ट्र के शक्तिशाली 15 सदस्यीय सुरक्षा परिषद में एक गैर-स्थायी सदस्य के रूप में शामिल हो गया है।

 

यह पढ़ें…चीन ने साजिश रचकर किया हमला, इस तरह पता की थी भारतीय जवानों की संख्या

इससे पहले, भारत को 1950-1951, 1967-1968, 1972-1973, 1977-1978, 1984-1985, 1991-1992 और हाल ही में 2011-2012 में सुरक्षा परिषद के गैर-स्थायी सदस्य के रूप में चुना जा चुका है। इस बार फिर भारत अपनी मौजूदगी से वसुधैव कुटूंबकम की भावना को चरित्रार्थ करेगा।

 

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।